आनलाइन ठगी से बचने स्पेशल डीजी ने जारी की एडवाइजरी

special-dg-cyber-cell-issue-advisory

भोपाल। मध्य प्रदेश में लगातार आनलाइन ठगी के मामलों पर साइबर सेल द्वारा लगाम लगाई जा रही है। स्पेशल डीजी साइबर पुरूषोत्तम शर्मा के निर्देशों पर साइबर सेल टीम बड़े आनफाइन फ्राड का भांडाफोड़ कर रही है। लेकिन ऐसी धोखाधड़ी से बचने के लिए अब खुद डीजी शर्मा ने सोशल मीडिया पर लोगों को जागरूक करने के लिए एक मुहिन चलाई है। जिसमें उन्होंने बताया है कि कैसे इन जालसाजों से बचा जा सके। 

उन्होंने सोशल मीडिया पर एक एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी में डीजी शर्मा द्वारा लिखा गया है कि ‘आज आधुनिक युग में स्मार्ट फोन जिंदगी का अभिन्न अंग बन चुका है। विभिन्न बैंकिग एप की मदद से आप पैसों का लेन देन बड़ी आसानी से कर सकते हैं, परंतु सायबर आपराध जगत में कुछ ऐसे वायरस एव मालवेयर आए हैं जो आपके बैंक खातो को चंद मिनटों में खाली कर सकते हैं, जिसके बारे में आप लोगों को जागरूक होना जरूरी है।’

ऐसे करें बचाव

– थर्ड पार्टी एप डाउनलोड करने से बचें। इसके जरिए एजेंट स्मि मालवेयर थर्ड पार्टी एप स्टोर से डाउनलोड करने पर आपके फोन में आ सकता है। एजेंट स्मिथ 9apps.com के जरिए फोन में आया जो चीन के अलीबाबा ग्रुप का एप है। 

– अगर यह एप आपके मोबाइल में डाउलनोड होता है तो फिर यह अपने आप ही अपना नाम एक जेन्युइन दिखने वाली एप की तरह बदल लेता है। जिससे असको पहचानना मुश्किल हो जाता है। यह मालवेयर किसी भी डिवाइस को आसानी से एक्सेस करता है। 

– डाउनलोड होने के बाद यह एप यूजर्स को फाइनेंशियल प्राफिट एवं कई लुभाने वाले खेल खेलने और पैसे जीतने वाले विज्ञापन दिखाता है। 

ऐसे करें बचाव

– एजेंट स्मिथ से बचने के लिए आप बैंकिग एप एवं अन्य एप गूगल प्ले स्टोर या फिर ट्रस्टेड सेटोर से ही डाउनलोड करें। 

– रेटिंग को ध्यान में रखते हुए और एप के रिव्यू पढ़ने के बाद ही डाउनलोड करें। रिव्यू में नेगेटिव और पाजिटेव रिव्यू पढ़ने के बाद ही एप डाउनलोड करें। 

-अपने फोन में खरीद कर एंटी वायरस का इस्तेमाल करें। फ्रि वाले एंटी वायरस अकसर पूरी सुरक्षा नहीं देते हैं। जिसका लाभ उठाकर ठगी यूजर को शिकार बनाते हैं।