शिवराज की राज्यपाल से मुलाकात के बीच मंत्रिमंडल गठन की अटकलें तेज़

4402

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंगलवार शाम हुई राजभवन में राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात में कोरोना वायरस के बीच मध्य प्रदेश की राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गयी है । संभावना है कि अप्रैल के शुरुआत में मुख्यमंत्री मंत्रिमंडल का गठन कर सकते हैं ।

दरअसल 23 मार्च को शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने की तैयारियों में लगे है जिसके चलते अब तक मंत्रिमंडल का गठन नहीं हो पाया है। मध्यप्रदेश की विधानसभा में वर्तमान 206 सदस्यों की चलते मुख्यमंत्री अधिकतम 28 मंत्री बना सकते हैं जिसमें सिंधिया खेमे के कमलनाथ सरकार में रह चुके छह पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, महेंद्र सिसोदिया, गोविंद सिंह राजपूत, प्रभु राम चौधरी और तुलसीराम सिलावट शामिल है इसके अलावा सोलह अन्य विधायकों में से संजय पाठक, नारायण त्रिपाठी, बिसाहू लाल सिंह ,एन्दल सिंह कंसाना, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव और हरदीप सिंह डंग भी मंत्री बनना तय है । शेष बचे 18 पदों के लिए बीजेपी पर लंबी फेहरिस्त है जिनमें नरोत्तम मिश्रा ,भूपेंद्र सिंह ,गोपाल भार्गव, विश्वास सारंग राजेंद्र शुक्ला, सीताशरण शर्मा, पारस चंद्र जैन ,विजय शाह मालिनी गौड़ ,नीना वर्मा, यशोधरा राजे सिंधिया,रमेश मेन्दोला,शैलेन्द्र जैन,प्रदीप लारिया, केदारनाथ शुक्ला जगदीश देवड़ा, यशपाल सिंह सिसोदिया ,ओमप्रकाश सकलेचा, रामपाल सिंह, सुरेंद्र पटवा जैसे दिग्गज मंत्री पद की कतार में है । अब शिवराज किसे मंत्रिमंडल में क्या मुकाम देते हैं ,यह तो वक्त ही बताएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here