शीतलहर की चपेट में प्रदेश के कई जिले, पचमढ़ी का पारा पहुंचा दो डिग्री

state-many-district-in-cold-waves-

भोपाल। मध्य प्रदेश में हाड़ कपा देने वाली ठंड का दौर शुरू हो गया है। प्रदेश के कई जिले शीतलहर की चपेट में हैं। ठंड के सितम को देखते हुए स्कूलों के टाइम भी बदल दिए गए हैं। राजधानी भोपाल में भी  मंगलवार की रात इस सीजन की सबसे ठंडी रही। न्यूनतम तापमान 6.2 डिग्री दर्ज किया गया।  इस दौरान पर्यटन नगरी पचमढ़ी में पारा दो डिग्री पर पहुंच गया, जो प्रदेश का सबसे ठंडा इलाका रहा।

बुधवार को प्रदेश के महानगरों का तापमान 

शहर         अधिकतम              न्यूनतम

भोपाल……….. 24.0 …………….. 6.2

इंदौर…………. 24.7 …………….. 8.0

ग्वालियर…….. 25.0 …………….. 4.4

जबलपुर……… 23.2………………. 8.2

रीवा ………….. 23.6……………… 8.0

सतना ………. 24.7 ……………… 8.3

पिछले तीन से चार दिनों से लगातार कडक़ड़ाती ठंड का सितम पूरे प्रदेश में जारी है। पहले इस ठंड का असर प्रदेश के उत्तरी तथा उत्तर पूर्वी इलाकों में रहा, लेकिन अब धीरे धीरे इस ठंड ने पूरे प्रदेश को अपनी आगोश में ले लिया। पहाड़ों में हुई बर्फबारी के बाद चल रही सर्द हवाओं के चलते ठंड का तल्ख तेवर फिलहाल कम होता नजर नहीं आ रहा है। इसके चलते आम जीवन प्रभावित हो रहा है। खासतौर पर स्कूली बच्चों पर इसका असर सबसे ज्यादा देखा जा रहा है।

मौसम विभाग के अनुसार पिछले चौबीस घंटों के दौरान पर्यटन नगरी पचमढ़ी पचमढी सबसे ठंडा इलाका रहा, जहां पारा दो डिग्री पर पहुंच गया, वहीं खजुराहो इसमें पीछे नहीं रहा, वहां पारा 3.1 डिग्री रिकार्ड किया गया। भोपाल में पारा 6.1 डिग्री रिकार्ड किया गया, मंगलवार की यह रात्रि राजधानी भोपाल की इस सीजन की सबसे सर्द रात्रि रही। यह न्यूनतम पारा सामान्य लगभग पांच डिग्री कम रहा। वहीं दतिया में 4.1, बैतूल में 4.5, मंडला में 4.6 तथा नौगांव में 4.5 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान रिकार्ड किया गया। इसके चलते इन क्षेत्रों में ठंड ने लोगों को परेशान किया। इसके अलावा टीकमगढ, दमोह और छिंदवाड़ा में पारा छह डिग्री के आसपास बना रहा। वहीं विंध्य के रीवा में 8 तथा सतना में न्यूनतम पारा 8.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, इसके साथ ही गुना में पांच तथा खरगोन में छह डिग्री न्यूनतम तापमान रहा।