भोपाल। फराज़ शेख| राजधानी भोपाल के गुनगा थाने के प्रभारी नीलेश अवस्थी को फोन पर एक ताकतवर मंत्री को न पहचान पाना खासा भारी साबित हो गया। गुस्साए मंत्री ने तत्काल प्रभाव से एक घंटे के भीतर थाना प्रभारी को लाइन हाजिर करा दिया। आनन फानन में गुरूवार देर रात ही थाना प्रभारी को रवानगी भी दे दी गई। वहीं मंत्री के करीबियों की अगर माने तो नीलेश अवस्थी ने मंत्री के पीए और स्वयं मंत्री से फोन पर बदसलूकी की थी।

जानकारी के अनुसार मंत्री के पीए ने एक प्रकरण में संबंध में जानकारी लेने के लिए गुरुवार की रात करीब दस बजे थाना प्रभारी नीलेश अवस्थी को कॉल किया था। थाना प्रभारी ने इसे मजाक में लेते हुए मंत्री के पीए को सख्त लहजे में न बात करने की हिदायत दे डाली। दरअसल वह मंत्री के पीए को नहीं पहचान सके थे। जिससे गुस्साए मंत्री ने स्वयं फोन पर थाना प्रभारी से बात की। इसके बाद भी वह उन्हें नहीं पहचाने और बदसलूकी जारी रखी। बात यहां तक बड़ी की मंत्री ने उनकी शिकायत कर कार्रवाई की बात कही। इस पर भी थाना प्रभारी ने दो टुक जवाब दिया। जैसा चाहें वैसा कर लें। 

आनन फानन में मंत्री ने एक आला अधिकारी को कॉल किया। थाना प्रभारी की करतूत की जानकारी उन्हें दी। जिसके बाद में तत्काल प्रभाव से थाना प्रभारी को लाइन हाजिर के आदेश जारी कर दिए गए। आनन फानन में उन्हें थाने से रवानगी भी दे दी गई।