दावेदारों को शिवराज के दिल्ली जाने का इन्तजार, इसी महीने हो सकता है कैबिनेट विस्तार

भोपाल| शिवराज कैबिनेट (Shivraj Cabinet) के विस्तार की अटकलों के बीच दावेदारों का इन्तजार बढ़ता जा रहा है| मंत्री पद के दावेदारों का भोपाल (Bhopal) में अलग अलग नेताओं से मुलाक़ात का सिलसिला तेज हो गया है| सभी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के दिल्ली जाने का इन्तजार कर रहे हैं| राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा की सहमति के बाद मंत्रिमंडल विस्तार पर मुहर लगेगी| दिल्ली से हर झंडी का इन्तजार है, संभावना है इसी महीने शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं|

मंत्रिमंडल के विस्तार (Cabinet expansion) की सुगबुगाहट के साथ ही कई दावेदारों ने भोपाल की दौड़ लगा दी है। कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे इमरती देवी और प्रद्युमन सिंह तोमर ने शनिवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की। उधर प्रभुराम चौधरी भी प्रदेश भाजपा कार्यालय में सीएम से मिले। इनके अलावा भाजपा के पूर्व मंत्रियों ने भी अलग अलग नेताओं से मुलाकात की है|

कैबिनेट विस्तार की तैयारी अंतिम चरण में
सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारी अंतिम चरण में है| मंत्री पद के दावेदारों को लेकर मुख्यमंत्री और संगठन नेताओं के बीच चर्चा भी पूरी हो गई है। संभावना है कि शपथ की तारीख तय करने से पहले मुख्यमंत्री एक बार दिल्ली जा सकते हैं। कैबिनेट विस्तार की मुहर केन्द्रीय नेतृत्व लगाएगा जिसके लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान दिल्ली जा सकते हैं। शिवराज 25 या 26 मई को दिल्ली जा सकते हैं। वे यहां केन्द्रीय नेतृत्व से चर्चा कर 31 मई के पहले कैबिनेट विस्तार कर सकते हैं।

सिंधिया खेमे से फिर बनेंगे मंत्री
इस विस्तार में 20 से 22 मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है। जिसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के 8 नेताओं के नाम तय हैं। शिवराज कैबिनेट में अभी सिंधिया खेमे से तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत ही मंत्री बने हैं। प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, महेंद्र सिंह सिसोदिया और राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव बाकी हैं। इसके अलावा कांग्रेस से भाजपा में आए बिसाहूलाल सिंह, एंदल सिंह कंसाना, हरदीप डंग और रणवीर जाटव भी मंत्री बन सकते हैं।