वायरल वीडियो को लेकर चल रही अफवाहों पर विराम, भोपाल कलेक्टर ने किया ट्वीट

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के समय मंत्री शिवराज सिंह चौहान को पीएम के सिक्योरिटी गार्ड द्वारा रोके जाने का वीडियो सिरे से गलत है खुद भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने ट्वीट करके इसका खंडन किया है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भोपाल दौरे के समय जंबूरी मैदान पर प्रदर्शनी का अवलोकन करते एक वीडियो वायरल हुआ है इस वीडियो में प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री के साथ चल रहे हैं कि तभी एक सूट बूट धारी मुख्यमंत्री के पास आते हैं और उनका हाथ पकड़कर उन्हें कुछ कहते हैं कांग्रेस ने इसी वीडियो को वायरल किया और कहा कि प्रधानमंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने मुख्यमंत्री को उनके रास्ते से हट जाने के लिए कहा क्योंकि फोटो में वे केवल प्रधानमंत्री का फ्रेम चाहते थे सोशल मीडिया पर कांग्रेस का यह वायरल वीडियो 2 दिन से लगातार चल रहा है।

CBSE Board Exam 2021-22: परीक्षा पर आई बड़ी अपडेट, छात्रों के लिए जानना जरूरी

बुधवार की शाम भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने ट्वीट कर खुद इसका खंडन किया।कलेक्टर ने ट्विट किया”सोशल मीडिया में वायरल हो रही बात कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के भोपाल दौरे में सुरक्षा अधिकारी द्वारा माननीय सीएम श्री शिवराज सिह चौहान को रोका गया का मैं पूर्णतः खंडन करता हूँ । वास्तविकता में मेरे द्वारा कार्यक्रम सम्बन्धी महत्वपूर्ण संदेश मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिह चौहान को दिया गया , जिसे उन्होंने रुक कर सुना और तुरंत ही आगे बढ़ गए ।” अब यह साफ है कि प्रधानमंत्री के साथ चल रहे मुख्यमंत्री को जिस व्यक्ति ने रोका था वह कोई और नहीं भोपाल के ही कलेक्टर थे और वे कोई महत्वपूर्ण संदेश उन्हें दे रहे थे। कलेक्टर के इस ट्वीट के बाद इस वीडियो को लेकर चल रही तमाम अटकलों पर विराम लग गया है।

वायरल वीडियो को लेकर चल रही अफवाहों पर विराम, भोपाल कलेक्टर ने किया ट्वीटवायरल वीडियो को लेकर चल रही अफवाहों पर विराम, भोपाल कलेक्टर ने किया ट्वीट