MP News : संविदा कर्मचारियों की हड़ताल का 10वां दिन, बातचीत करने पहुंचे मंत्री की गाड़ी का घेराव, सुरक्षित बाहर निकले प्रभु राम चौधरी

Strike of MP Contract Employees : प्रदेश में संविदा कर्मचारियों का आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा। आज दसवें दिन भी हड़ताल जारी है। 2 सूत्रीय मांगों के लिए कर्मचारी प्रदेश भर में आंदोलन कर रहे हैं। अलग-अलग तरीके से प्रदर्शन को रुप दिया जा रहा है। इसी बीच संविदा स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा बातचीत करने पहुंचे मंत्री प्रभु राम चौधरी के गाड़ी का घेराव कर लिया गया।

स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी की गाड़ी का भी घेराव 

दरअसल हड़ताल के आज दसवें दिन होने के बाद मंत्री प्रभु राम चौधरी संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों के बीच पहुंचे। इस दौरान मंत्री द्वारा जैसे ही गाड़ी से उतर कर उनसे बातचीत करने की कोशिश की गई। संविदा स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा जमकर हंगामा शुरू कर दिया गया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी की गाड़ी का भी घेराव किया गया। बमुश्किल पुलिस द्वारा मंत्री को दूसरी गाड़ी में बैठा कर प्रदर्शनकारियों की भीड़ से सुरक्षित बाहर निकाला गया है। संविदा स्वास्थ्य कर्मी अपनी मांगों को लेकर अभी भी उग्र हैं और लगातार हंगामा कर रहे हैं।

आंदोलनरत कर्मचारियों को तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ का भी साथ

प्रदेश भर में आंदोलनरत संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को अब तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ का भी साथ मिल गया है। कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष अतुल मिश्रा का कहना है कि संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की हड़ताल का समर्थन तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ द्वारा भी किया जा रहा है। उनकी मांग है कि 25 वर्षों से कार्यरत सभी संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जाना चाहिए।

अस्थाई कर्मचारियों को प्राथमिकता से नियमित किया जाए

इतनी संघ का कहना है कि सरकार द्वारा एक लाख से अधिक पदों पर भर्ती प्रक्रिया अपनाई जा रही है लेकिन पहले से विभाग में कार्यरत संविदा कर्मियों को नियमित करने की कार्रवाई नहीं की जारी है। पहले विभाग में कार्यरत संविदा और अस्थाई कर्मचारियों को प्राथमिकता से नियमित किया जाए। ऐसे कर्मचारी लंबे समय से नियमितीकरण की राह देख रहे हैं। वही संविदा कर्मचारियों का प्रदेश की बहुमूल्य योजना को सफल बनाने में बहुत बड़ा योगदान है।