जबलपुर, छतरपुर और गुना में नई शराब दुकान खोले जाने को लेकर जोरदार प्रदर्शन

 डेस्क रिपोर्ट। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के शराबबंदी अभियान को लेकर अब भले ही उन्होंने खुद चुप्पी साध ली हो मगर पूरे प्रदेश में अब महिलायें शराब दुकानों को लेकर मुखर हो गई है। रविवार को छतरपुर, जबलपुर और गुना के कुंभराज में शराब दुकान को लेकर जमकर प्रदर्शन हुआ, छतरपुर  के बिजावर में मुख्य बस स्टैंड पर एक स्कूल से चंद मीटर की दूरी पर शराब दुकान खोले जाने का मोहल्ले के लोगों ने जमकर विरोध किया। रविवार को मोहल्ले की महिलाएं, बच्चे और युवा बस स्टैंड पहुंचे और यहां एक दिन पहले ही खोली गई शराब दुकान का विरोध किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कुछ देर के लिए आवागमन रोक दिया और शराब दुकान के विरोध में जमकर नारेबाजी की। बाद में मौके पर एसडीएम पहुंचे जिन्होंने महिलाओं को आश्वासन दिया कि शराब की दुकान नहीं खोली जाएगी, तब कही जाकर प्रदर्शन खत्म हुआ।

यह भी पढ़ें…. Government Job 2022 : ग्रुप सी के 410 पदों पर निकली भर्ती, जानें योग्यता व सैलेरी

वही दूसरी तरफ़ रविवार को ही गुना जिले के कुम्भराज में खुलने वाली नई शराब दुकान के खिलाफ विधायक लक्ष्मण सिंह ने मोर्चा खोल दिया। शनिवार से वह नागरिकों के साथ धरने पर बैठ गए। इस दौरान उन्होंने ठेकेदार के व्यक्तियों पर भी आरोप लगाए। उनके आरोप था कि ठेकेदार के आदमियों से परेशान होकर एक युवती ने सुसाइड तक कर लिया था। वहीं उन्होंने सीएम शिवराज सिंह पर भी निशाना साधते हुए कहा कि अब कहाँ है आपका बुलडोजर। आपके बेटी बचाओ अभियान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इस दौरान महिलाओ ने भी जोरदार प्रदर्शन करते हुए दुकान किसी भी हाल में न खोले जाने की चेतावनी दी।

यह भी पढ़ें… भोपाल के MANIT में स्टूडेंट्स की रैगिंग मामला, जूनियर्स ने लगाया प्रताड़ित करने का आरोप

वही जबलपुर में भी शराब दुकान को लेकर महिलाओं ने पेंटीनाका में रविवार को जमकर जोरदार प्रदर्शन किया इस प्रदर्शन में उनके साथ भाजपा के स्थानीय नेता शामिल हुए, दरअसल कुछ दिनों पहले भी महिलाओं ने इस दुकान को लेकर विरोध जताया था, विधायक अशोक रोहाणी के आश्वासन के बावजूद दुकान को स्थानांतरित किए जाने में हो रही देरी से महिलाओं में और ज्यादा नाराजगी है, इसी के चलते पेंटीनाका क्षेत्र की महिलाएं अभी भी शराब दुकान के सामने धरना दिए बैठी हैं। कि दुकान भले ही बना दी गई हो लेकिन इस दुकान में दारू रखने नहीं दी जाएगी। वही कलेक्टर ने भी इस मामलें में आश्वासन दिया है। विरोध कर रही इन महिलाओं का कहना है कि शराब दुकान से चंद कदम की दूरी पर तीन स्कूल और एक कालेज हैं। देर रात तक शराब दुकान के बगल वाली गली से कोचिंग जाने वाली किशोरियों का आना-जाना होता है। ऐसे में गली के मुहाने पर ही जमी शराब दुकान और अहाता यहां की महिलाओं व बच्चियों की सुरक्षा पर संकट पैदा करने वाला है।