इंदिरा प्रियदर्शिनी स्कूल में हुए कार्यक्रम में छात्रों ने हुजूर की शान में पेश किए स्पीच

भोपाल। हजरत मोहम्मद (सअ) की जिंदगी के मुख्तलिफ पहलुओं से वाबस्ता स्कूली बच्चों ने कई तरह के काम्पटीशन में हिस्सा लिया। नात, कीरत और अपनी स्पीच से इस बात के लिए भी लोगों को अचरज में डाल दिया कि तालीम के साथ इस्लामी जानकारी सीखने की ललक भी बच्चों में कम नहीं है, बशर्त कि उन्हें सही दिशा और मार्गदर्शन मिल जाए। 

इंदिरा प्रियदर्शिनी हायर सेकंडरी स्कूल में गुरूवार को आयोजित सीरतुन्नबी काम्पटीशन में दर्जनों बच्चों ने हिस्सा लेकर मौजूद लोगों के सामने अपनी मुहब्बत-ए-नबी से रू-ब-रू कराया। इस दौरान स्पीच, नात और कीरत के अलग-अलग तीन काम्पटीशन रखे गए थे। अलग-अलग आयुवर्ग के बच्चों ने इसमें शामिल होकर अपने फन, हुनर और जानकारी से लोगों की वाहवाही लूटी। प्रतियोगिता के सभी विजेता बच्चों को प्रतीक चिन्ह और नगद पुरस्कार से नवाजा गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मध्य विधायक आरिफ मसूद थे। इस मौके पर काजी अजमत शाह मक्की, अतहर अली आदि भी मौजूद थे। 

समझकर पढ़ा जाए, तो कुरआन दिल में उतरेगा : मसूद

विधायक आरिफ मसूद ने अपने उद्बोधन बच्चोंं को मुबारकबाद देते हुए कहा कि आम दुनियावी तालीम के साथ कुरआन की शिक्षा लेना भी उतना ही जरूरी है, जितना जिंदगी के लिए सांसों की जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि कुरआन को समझकर पढऩे के फायदे यह हैं कि इसके अल्फाज सीधे दिल तक उतरते हैं और इससे जिंदगी के अच्छे-बुरे पहलुओं की समझ आती है। 

विधायक ने पत्रकारों को बढ़ाया आगे

राजधानी के पत्रकारों को सियासी लोगों से अपनापन और लगाव के हालात मिलने लगे हैं। गुरूवार को आयोजित कार्यक्रम में मौजूद विधायक आरिफ मसूद ने कवरेज करने आए पत्रकारों को गेस्ट ऑफ ऑनर का दर्जा देते हुए प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को पुरस्कार वितरण के लिए आगे बढ़ा दिया। इस मौके पर मौजूद सीनियर सहाफी परवेज बारी, डॉ. महताब आलम, मुशाहिद सईद खान, खान अशु, शाहरोज आफरीदी, कमर गौर ने बच्चों को पुरस्कार वितरित कर उनको दुआओं से नवाजा। गौरतलब है कि इससे पहले मंत्री आरिफ अकील ने भी इसी तरह की दलील पेश की थी। महिला हॉकी टूर्नामेंट के समापन कार्यक्रम के दौरान उन्होंने पत्रकारों को खिलाडिय़ों से परिचय करने के लिए आगे बढ़ाया था।