RGPV में छात्र दो ब्रांच से कर पाएगे इंजीनियरिंग

भोपाल।

इंजीनियरिंग करने वाले छात्रों को अब एक साथ दो ब्रांच की डिग्री मिलेगी इसके लिए राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय जल्दी ही ऑल इंडिया कॉउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन का मॉडल करिकुलम लागू करने वाला है। विश्वविद्यालय से छात्रों को मिलने वाली डिग्री पर दोनों ब्रांच के नाम लिखे होंगे। इस में एक ब्रांच नियमित के तौर पर और दूसरी विशेषज्ञता के तौर पर लिखी जाएगी। इस का मकसद छात्रों के लिए अधिक से अधिक रोजगार उपल्बध काराना है।

कुछ समय पहले एआईसीटीई ने मॉडल करिकुलम तैयार किया । जिसके तहत कोई भी छात्र अपनी चुनी हुई ब्रांच के साथ एक और ब्रांच में पढ़ सकेगा और डिग्री हासिल कर सकेगा। छात्रों को मूल ब्रांच में 160 क्रेडिट लाने होंगे। ऐसा करने के वाद वो माइनर इंजीनियरिंग करने के लिए पात्र हो जाएगे। इसके बाद चुनी हुई ब्रांच में 20 क्रेडिट हासिल करने होंगे। छात्र को जब डिग्री दी जाएगी तो उसमें दोनों ब्रांच का नाम लिखा होग।

जानकारी देने के लिए अलग अलग प्रशिक्षण कार्यक्रमों कि शुरुवात
आरजीपीवी ने ओपन इलेक्टिव इंजीनियरिंग की शुस्र्आत कर दी है। इसके तहत 13 ब्रांच को अलग अलग ग्रुप में बांटा गया है। छात्र अपने ग्रुप की ब्रांच के साथ ही उसी ग्रुप की एक ओर ब्रांच को चुन सकते है। छात्रों के लिए यह व्यवस्था पांचवे सेमेस्टर में लागू की गई है। ग्रुप में आपस में जुड़ी हुई ब्रांच को रखा गया है। आरजीपीवी ने नई व्यवस्था की जानकारी देने के लिए अलग अलग प्रशिक्षण कार्यक्रमों की भी शुस्र्आत की है। जिससे छात्रों समेत फैकल्टी को नई व्यवस्था के बारे में जानकारी मिल सके।