‘महाराज’ के पलटवार से तिलमिलाई कांग्रेस, बोला बड़ा हमला

भोपाल।
पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Former Union Minister Jyotiraditya Scindia) को बीजेपी(bjp) में शामिल हुए दो महिने का समय बीत चुका है लेकिन कांग्रेस(congress) अब भी महाराज के गम को भुला नही पाई है। सत्ता से हटने के बाद से ही कांग्रेस महाराज की किसी ना किसी मुद्दे को लेकर घेराबंदी कर रही है। हालांकि सिंधिया भी डटकर मुकाबला कर रहे है और मुंहतोड़ जवाब दे रहे है। इसमें बीजेपी भी उनका जमकर समर्थन कर रही है। अब शौचालय में क्वारेंटटाइन किये आदिवासी परिवार को लेकर सियासत गर्म है। सिंधिया के पलटवार के बाद कांग्रेस तिलमिला गई है और जमकर ट्वीटर अटैक कर रही है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग(Media Department of Madhya Pradesh Congress) के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ( Vice President Bhupendra Gupta)ने राघौगढ (Raghogarh) के शौचालय में क्वारेंटटाइन किये आदिवासी परिवार की खबर को लेकर सिंधिया के ट्वीट को हास्यास्पद बताया है।जिसमें उन्होने शौचालय में क्वारेंटटाइन किये गये आदिवासी परिवार की खबर के हवाले से शौचालय को गुना नहीं राघौगढ़ में स्थित बताया है। उनसे इस तरह के संकुचित मानसिकता से दिये गये इस बयान के पूर्व उन्हें विस्तृत मानसिकता दर्शाते हुये यह सोच रखना चाहिये था कि शौचालय कहीं भी हो वह है मध्यप्रदेश मे ही ।

गुप्ता ने कहा कि दर असल मध्यप्रदेश की 6सदस्यीय सरकार को तीन मुख्यमंत्री चला रहे हैं।एक मुख्यमंत्री से सवाल करो तो दो ग्वालियर संभाग के मुख्यमंत्री जबाब देते है। राघौगढ़ भी इसी प्रदेश का हिस्सा है और अगर वहां कुछ अमानवीय घटता है तो वह भी तो सरकार की ही जिम्मेदारी है।गुप्ता ने सवाल किया कि क्या सिंधिया यह कहना चाहते हैं कि राघौगढ़ इस सरकार की जिम्मेदारी नहीं है? उम्मीद की जाती थी कि ऐसा भेदभावपूर्ण व्यवहार करने वाले अधिकारी को वे दंडित कराने की मांग करेंगे।

ये है पूरा मामला

दरअसल,पिछले दिनों मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से टॉयलेट में क्वारंटीन परिवार की तस्वीर शेयर करते हुए सिंधिया पर निशाना साधा था। ट्वीट में लिखा था ‘शौचालय में भोजन करने को मजबूर, सिंधिया के लोकसभा क्षेत्र की तस्वीर’। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि बीजेपी नेता सिंधिया के लोकसभा क्षेत्र गुना की ये तस्वीर है, जिसमें गरीब परिवार को शौचालय में क्वारंटीन किया गया है। ट्वीट में आगे कहा गया था कि जो बात-बात पर सड़क पर उतरते थे, इस बात पर जनता की नजरों से उतर गए। इसके बाद सिंधिया पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह और उनके बेटे को घेरा था और लिखा था यह तस्वीर दिग्विजय सिंह के पूर्व लोकसभा क्षेत्र राजगढ़ की है और उनके बेटे जयवर्धन सिंह के विधानसभा क्षेत्र की भी है। मैंने जिला प्रशासन से आग्रह किया है कि इस परिवार का ख्याल रखें’। वहीं सिंधिया ने एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा ‘यह तस्वीर राजगढ़ लोकसभा सीट और राघौगढ़ विधानसभा के ग्राम टोडरा ग्राम पंचायत की प्राथमिक शाला देवीपुरा की है। जहां से दशकों से दिग्विजय सिंह के परिवार के सदस्य जनप्रतिनिधि बनते रहे हैं’।