Suicide: पेट में दर्द बना मौत की वजह, कारोबारी ने मारी खुद को गोली, कहा- यह दर्द अब हो गया है जानलेवा

अपने सुसाइड (Suicide) नोट में मृतक कारोबारी ने लिखा कि यह दर्द (Pain) अब जानलेवा हो गया है, जिसके चलते मानसिक तनाव (Depression) बढ़ता जा रहा है। अब इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए मेरे पास एकमात्र रास्ता आत्महत्या (Suicide) है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल (bhopal) के श्यामला हिल्स (shyamla hills) से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है, जहां एक 80 साल के कारोबारी ने पेट में दर्द (stomach pain) होने के चलते सुसाइड (suicide) कर लिया। सुसाइड (Suicide) से पहले कारोबारी ने एक सुसाइड नोट (Suicide Note) भी लिखा है जिसमें उन्होंने अपनी तकलीफ के बारे में बताया है।

उन्होंने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि यह दर्द (Pain) अब जानलेवा हो गया है, जिसके चलते मानसिक तनाव (Depression) बढ़ता जा रहा है। अब इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए मेरे पास एकमात्र रास्ता आत्महत्या है। वहीं इस पूरे मामले को लेकर क्षेत्र थाना प्रभारी तरुण भाटी ने बताया कि कारोबारी आरके दुबे ने अपने सुसाइड नोट में पेट दर्द के बारे में उल्लेख किया है और अपनी मौत का कारण पेट दर्द को बताया है। बता दे कि आरके दुबे अपनी पत्नी और दो बेटों के साथ रहते हैं।

पूरा मामला रविवार सुबह 8:00 बजे के आसपास का है, जब थाने में कारोबारी आरके दुबे के घर से फोन आया था। जहां मृतक कारोबारी के बेटे ने अपने पिता के खुद को गोली मारने की बात बताई थी, जिसके बाद सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची जहां कमरे में मृतक को खून से लथपथ पड़े हुए देखा।

12 बोर की बंदूक से खुद को गोली मारने पर मृतक का पूरा जबड़ा ही गायब हो चुका था और कमरे में चारों तरफ खून ही खून था। वही कारोबारी जमीन पर तड़प रहे थे। तत्काल एंबुलेंस को बुलाया गया और उन्हें हमीदिया अस्पताल पहुंचाया गया अस्पताल में उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया गया।

मामले को लेकर थाना प्रभारी भाटी ने बताया कि मृतक ने अपने मकान की पहली मंजिल के कमरे में खुद को गोली मारी। घटनास्थल को देखने से पता लगता है कि मृतक ने बंदूक का मुंह नीचे से अपने जबड़े की तरफ किया होगा और फिर पैर से ट्रिगर दबा दिया जिसके कारण उनका जबड़ा फट गया और गोली लगने से चारों तरफ खून ही खून फैल गया।

मिली जानकारी के अनुसार आरके दुबे पेट की तकलीफ से जूझ रहे थे। 3 दिन पहले ही वह अपने घर अस्पताल से आए थे। वहीं उनके पास 24 घंटे एक कर्मचारी मौजूद रहता था जो उनकी पूरी देखभाल करता था। जब उन्होंने घटना को अंजाम दिया था तब वह अकेले थे। परिजनों ने पुलिस को बताया कि गोली की आवाज सुनते ही वो कमरे की तरफ दौड़ पड़े थे।

पुलिस ने बताया कि आरके दुबे गोविंदपुरा स्थित केपेस इंडिया लिमिटेड के मालिक थे । वही उनके दोनों बेटे कारोबार देखते हैं। अपने परिवार के साथ मृतक आरके दुबे श्यामला हिल्स स्थित नादरा कॉलोनी‌ में रहते हैं। मृतक का एक बेटा लंदन और दूसरा दिल्ली में पढ़ाई कर रहा है । वहीं पूरे मामले को लेकर परिजन कुछ बोलने को तैयार नहीं है।