MP में BJP विधायक के Twitter Account पर सर्जिकल स्ट्राईक! तेजी से घटे फॉलोवर्स

लोगों ने लिखा है "इससे अच्छे तो जैक डोर्सी ही थे। आप तो आते ही काम पर लग गए" एक अन्य यूजर अशोक बसोया ने लिखा "अब समझ में आया।

twitter

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पराग अग्रवाल के नया ट्वीटर सीईओ (New Twitter CEO Parag Agarwal) बनते ही देश में गुरुवार रात को बड़ा बदलाव देखने को मिला।  गुरुवार देर रात भारत में कई ट्विटर यूजर्स के फॉलोवर्स की संख्या में जमकर गिरावट देखी गई है।अचानक फॉलोवर्स की संख्या में कमी होते ही सोशल मीडिया पर ट्वीट्स की बाढ़ आ गई, लोगों ने सवाल पूछना शुरु कर दिए और #फॉलोअर्स पर हमला भी ट्रेंड करने लगा है।खास बात ये है कि इस ट्वीटर फॉलोवर्स ड्रॉप का शिकार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सबसे तेज तर्रार कहे जाने वाले बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा भी हुए है।

यह भी पढ़े.. मप्र पंचायत चुनाव 2021: अब 5 दिसंबर तक दावे-आपत्ति, स्टैण्डिंग कमेटी गठित, बैठक आज

दरअसल, मध्य प्रदेश में बीजेपी के मुख्य नेता और विधायक रामेश्वर शर्मा (BJP MLA Rameshvar Sharma) ने ही चंद घंटों में 1500 से ज्यादा फॉलोअर खो दिए। उन्होंने ट्विटर से सवाल पूछा है कि आखिर ऐसा क्यों हुआ?वही बीजेपी प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत (Suhas Bhagat) ने भी ट्वीट कर पूछा है कि 1500 के उपर follower उड़ा दिये @TwitterIndia क्यों ? इतना ही नहीं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा के 3000 से ज्यादा फॉलोअर कम हो गए। जिन लोगों के फॉलोअर और कम हुए उनमें कई राजनेता, व्यवसायिक लोग व समाज के विभिन्न वर्गों से जुड़े प्रतिष्ठित लोग भी शामिल हैं।

गुरुवार की शाम ट्विटर चलाने वालों पर भारी पड़ गई। कई लोगों के ट्वीटर एकाउन्ट से अचानक फॉलोअर्स गायब होने लगे।  फॉलोअर्स के कम होने पर यूजर्स ने टि्वटर के नए सीईओ पराग अग्रवाल पर निशाना साधा। लोगों ने लिखा है “इससे अच्छे तो जैक डोर्सी ही थे। आप तो आते ही काम पर लग गए” एक अन्य यूजर अशोक बसोया ने लिखा “अब समझ में आया। हमारे फॉलोअर्स घटकर कहां जा रहे हैं। जरा पराग भाई का खेल देखो। सीधे 44.7 हजार से 360.3 हजार। इसे कहते हैं तरक्की।”

यह भी पढ़े.. महिला स्व-सहायता समूहों के लिए खुशखबरी, 50,000 करोड़ के मिलेंगे व्यापार अवसर

रविंद्र सिंह रोबिन ने लिखा “पराग अग्रवाल ने बुजुर्गों की बात याद दिला दी। बड़े बुजुर्ग सही कहते थे कि यह सुनिश्चित कर लें। आप जिस घोड़े पर सवार है उसके लगाम भी आपके हाथ में होनी चाहिए।” देर रात तक ट्विटर के द्वारा इस बारे में कोई अधिकृत बयान जारी नहीं किया गया। हालांकि समय-समय पर ट्वीटर जैसे प्लेटफॉर्म पासवर्ड और फोन नंबर जैसे विवरण की पुष्टि के लिए अकाउंट को वेरीफाई करते हैं। अभी ट्विटर ने एक दिसंबर को निजी सूचना सुरक्षा की नीति की पॉलिसी को भी अपडेट कर दिया है और कई वेरीफाइड यूजर्स से ब्लूटिक भी वापस ले लिया है। गुरुवार को कंपनी ने लगभग 3400 अकाउंट बंद भी कर दिए हैं।