आंंतरिक सर्वे रिपोर्ट के बाद बीजेपी नेताओं ने संभाला मोर्चा, इन सीटों पर झोंकी ताकत

survey-report-show-bjp-week-in-state

भोपाल।  लोकसभा चुनाव के छठे चरण को लेकर बीजेपी पूरी तरह से तैयार नजर आ रही है। हाल ही में मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि देश भर में बीजेपी को बहुमत का आंकड़ा मिलना मुश्किल हो रहा है। इसमें मध्य प्रदेश में भी कम सीटों पर जीत का अनुमान लगाया गया था। जिसके बाद बीजेपी ने अपनी रणनीति बदली है और शीर्ष नेतृत्व ने अपनी ताकत झोंकना शुरू कर दिया है। इसकी बानगी भोपाल में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में देखने को मिली। वह भोपाल लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के समर्थन में रोड शो करने पहुंचे थे। 

दरअसल, कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के चुनावी रण मे उतरने से बीजेपी को टक्कर का मुकाबला करना पड़ रहा है। ऐसे में पार्टी के आंतरिक सर्वे में जो रिपोर्ट आई है उससे पार्टी नेता खुश नहीं है, वह हर हाल में जीती हुई सीटों पर हार का सामना नहीं करना चाहते। यही कारण है पार्टी अपने अभेद गढ़ बचाने में जुट गई है। भोपाल, विदिशा, ग्वालियर, इंदौर, धार, मंदसौर जैसी सीटों पर बीजेपी ने अपना संगठन सक्रिय कर दिया है। पार्टी ने कार्यकर्ता को नसीहत दी है कि हर बूथ पर मोर्चा संभाल ले और पार्टी के लिए जीत में कोई कसर न छोड़ें। यही हाल इंदौर सीट पर भी बताया जा रहा है। इसके अलावा ग्वालियर सीट पर भी बीजेपी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। 

गौरतलब है कि बीजेपी द्वारा एक एजेंसी से पांच चरण को लेकर एक आंतरिक सर्व करवाया गया था। जिसे में यह बात सामने आई है कि बीजेपी को अकेले दम पर 200 सीटें मिलने का अनुमान है। हालांकि, अभी दो चरण बाकी हैं। लेकिन समीकरण देखते हुए रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया है कि एमपी, छग और राजस्थान जहां विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जीत मिली है इन राज्यों में पार्टी को नुकसान उठाना पड़ सकता है।