गृह मंत्री की घोषणा से पूर्व CS पर लटकी तलवार, MLA का यह पत्र बनेगा आधार

भोपाल।

मध्य प्रदेश (madhypradesh) के गृह और स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home and Health Minister Narottam Mishra) ने घोषणा की है कि मुख्यमंत्री (cm) की मंशा के अनुरूप कमलनाथ सरकार(kamalnath sarkar) के पिछले 6 माह के घोटालों(scam) की जांच कराने के लिए जल्द ही ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स (Group of ministers) बनाया जाएगा। इस ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स के माध्यम से कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में हुए विभिन्न गड़बड़ियों की जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा भी होगी।

दरअसल. कुछ दिन पहले ही मध्य प्रदेश के बीजेपी विधायक महेंद्र हार्डिया (BJP MLA Mahendra Hardia) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) को एक पत्र लिखा था और पत्र के माध्यम से महिला एवं बाल विकास विभाग (Women and Child Development Department) में मोबाइल खरीदी में हुए घोटाले का उल्लेख करते हुए कई प्रमाण उपलब्ध कराए थे।

इन तथ्यों के माध्यम से पूर्व मुख्य सचिव सुधि रंजन मोहंती (Former Chief Secretary Sudhi Ranjan Mohanty) के ऊपर साफ आरोप लगाया गया था कि उन्होंने आनन-फानन में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए मोबाइल खरीदी में जल्दबाजी दिखाते हुए एक कंपनी विशेष को टेंडर (Tender to company specific)दिला दिए ।इसके साथ ही एल यू एन के एमडी मनु श्रीवास्तव (Manu Srivastava, MD of LUN) के ऊपर भी इस घोटाले में शामिल होने के आरोप लगाए गए थे। मुख्यमंत्री ने इस पत्र को गंभीरता से लेते हुए इस टेंडर को तत्काल निरस्त करने के निर्देश दिए थे और अब इस बात की प्रबल संभावना है कि ग्रुप ऑफ मिनिस्टर इस पूरे घोटाले के साथ साथ कमलनाथ सरकार में हुए अन्य घोटालों की भी जांच करें। इससे साफ है कि आने वाले समय में पूर्व मुख्य सचिव सुधीर रंजन मोहंती की मुश्किले बढ़ सकती है।

 

गृह मंत्री की घोषणा से पूर्व CS पर लटकी तलवार, MLA का यह पत्र बनेगा आधार गृह मंत्री की घोषणा से पूर्व CS पर लटकी तलवार, MLA का यह पत्र बनेगा आधार गृह मंत्री की घोषणा से पूर्व CS पर लटकी तलवार, MLA का यह पत्र बनेगा आधार