सशक्त महिला समृद्ध देश, कहानी गढ़ता मध्य प्रदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। “टैक्स सखी” (Tax sakhi) मध्य प्रदेश (MP News) में एक ऐसी नई पहल है जो महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक मजबूत कदम साबित होगी। भोपाल (Bhopal News) जिला प्रशासन “टैक्स सखी” व्यवस्था की मदद से गांवों की तस्वीर और तकदीर दोनों को चमकाने का प्रयास कर रहा है। इस व्यवस्था के तहत अब महिलाएं भोपाल जिले के सभी 614 गांवों में टैक्स कलेक्शन करेंगी।

भोपाल जिला प्रशासन  जिले ग्रामीण क्षेत्रों के लिए नई पहल करने जा रहा है।  इस पहल के तहत जिले की 187 ग्राम पंचायतों के 614 गांवों में टैक्स कलेक्शन की जिम्मेदारी अब महिलाओं के हाथों में होगी। ये महिलाएं गांवों से प्रॉपर्टी टैक्स, कमर्शियल टैक्स, जल कर, स्वच्छता कर आदि वसूलेंगी।

ये भी पढ़ें – शिवराज सरकार की बड़ी तैयारी, 12 जिलों को मिलेगा लाभ, ऐसा रहेगा पूरा कार्यक्रम

इस नई व्यवस्था को “टैक्स सखी” नाम दिया गया है। जिला प्रशासन ने गांवों में टैक्स कलेक्शन की जिम्मेदारी महिला  स्व सहायता समूहों (Women Self Help Groups) को दे दी है। नई व्यवस्था के तहत एक गांव में दो “टैक्स सखी” जाएंगी और टैक्स कलेक्शन करेंगी। विशेष बात ये है कि गांवों से जो पैसा टैक्स के रूप में कलेक्ट होगा उसका उपयोग उसी गांव के विकास में किया जायेगा।

ये भी पढ़ें – MP News : सीएम शिवराज हुए भावुक, ट्वीट कर उमा भारती के लिए कही ये बड़ी बात

इस पैसे से गांवों में स्ट्रीट लाइटें लगेंगी, पक्की सड़कें और नालियां बनेंगी। एक खास बात और है वो ये कि अब शहर की तरह ही गांवों में भी कचरा गाड़ियां जाएँगी जिससे गांवों की खूबसूरती बरक़रार रहेगी। आपको बता दें कि अब तक गांवों में टैक्स कलेक्शन सचिव और सरपंच करते थे जिसकी कई बात शिकायते भी आती थी, उम्मीद की जा रही है कि “टैक्स सखी” व्यवस्था न सिर्फ महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) की दिशा में एक मजबूत कदम साबित होगी बल्कि ये गांवों की तस्वीर और तक़दीर बदलने में भी सहायक होगी।

ये भी पढें – MP College : नई शिक्षा नीति से होंगे कॉलेज में एडमिशन, इन कोर्सेज को बंद करने की तैयारी