कुत्तों के हमले में घायल बच्ची के मामलें में मुख्यमंत्री की नाराजगी आई सामने, अधिकारियों को सुनाई खरी खरी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में एक मासूम बच्ची को कुत्ते के काटने के मामले में मुख्यमंत्री ने सख्त तेवर दिखाते हुए भोपाल जिला प्रशासन को मंत्रालय में तलब किया है। भोपाल के कलेक्टर और कमिश्नर नगर निगम कमिश्नर सहित हमीदिया अस्पताल के प्रभारी सहित सम्बन्धित अधिकारियों को मंत्रालय बुलाया गया।

यह भी पढ़े.. Jabalpur news: भाजपा में न तो सिफारिश चलती है, न ही लॉबिंग- गोपाल भार्गव  

मुख्यमंत्री ने इस मामले में की नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं। सी एम ने अधिकारियों को दो टूक कहा कि मुझे करवाई चाहिए कारण नहीं, ये नहीं चलेगा। बच्ची हर हालत में जल्द ठीक हो , उसके इलाज की पूरी व्यवस्था करें, परिवार की पूरी चिंता करें।

यह भी पढ़े.. मुख्यमंत्री के निर्देश बैकलॉग के पदों पर शुरू की जाए भर्ती

इसके साथ ही इस मामलें में पीपुल्स फॉर एनिमल की चेयरपर्सन मेनका गांधी का बड़ा बयान भी सामने आया है मेनका गांधी ने कहा है कि इस मामलें में मैं सीएम शिवराज सिंह चौहान से बात करूंगी, उन्होंने आरोप लगाए है कि भोपाल में डॉग के लिए काम करने वाले एनजीओ नवोदय को पिछले कई सालों से काम दिया जा रहा है। यह एनजीओ भ्रष्टाचार में लिप्त है। शहर में डॉग की ना नसबंदी की जा रही और ना ही उनके शेल्टर होम का विस्तार किया जा रहा है, यदि डॉग को जंगल में छोड़ा जाता है तो वह और खूंखार हो जाएंगे, अधिकारियों की मिलीभगत से सब काम चल रहा है, यह घटना काफी दुखद है और इससे अब सबक लेना चाहिए।

गौरतलब है कि राजधानी भोपाल में कुछ दिनों पहले आवारा कुत्तों ने एक मासूम पर सरेराह अटैक कर दिया था उन्होंने बच्ची को बुरी तरह घायल कर दिया गनीमत थी कि मौके पर एक युवक ने कुत्तों को मासूम को नोचते देखा तो फौरन कुत्तों को भगाया। बच्ची हमीदिया अस्पताल में भर्ती है। मजदूर परिवार की इस बच्ची पर अटैक की यह घटना पूरे प्रदेश में सुर्खियों में आ गई थी।