फेक निकली कलेक्टर-डिप्टी कलेक्टर की whatsapp चैट, ‘स्पाय वेयर’ के जरिए की गई थी वायरल

The-collector-deputy-collector's-whatsapp-chat-was-done-through-spywareviral

भोपाल। 

शहडोल कलेक्टर अनुभा श्रीवास्तव और डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी की सोशल मीडिया पर वायरल हुई चैट फेक निकली है। जांच में पता चला है कि स्पाय वेयर के जरिए ये चैट वायरल की गयी थी। डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी के फोन से किसी तरह की चैट नहीं हुई थी। उनका फोन हैक किया गया था।  

दरअसल,  विधानसभा चुनाव के बाद कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर के बीच भाजपा को जिताने की एक चैट वायरल हुई थी। इस बातचीत में कलेक्टर अपनी डिप्टी कलेक्टर से चुनाव को लेकर बात कर रही थी और कांग्रेस को हराने और भाजपा की सरकार बनने पर डिप्टी कलेक्टर को एसडीएम का चार्ज मिलने की बात कर रही थी । वही इस चैट के वायरल होने के बाद डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी ने कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी।इसे लेकर काफी बवाल मचा था।कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत कर जांच करने की बात कही थी।पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी।जिसके बाद जांच में सामने आया है कि चैट फेक थी।जांच में पता चला कि इस चैट को मोबाइल फोन स्पाय वेयर के जरिए अंजाम दिया गया। स्पाय वेयर के जरिए तिवारी का फोन हैक कर कई महत्वपूर्ण जानकारियां दूसरे फोन पर साझा की गईं।

 वाट्सएप पर ये चैट हुई थी वायरल

डिप्टी कलेक्टर: मैम दो सेक्टर में सिचुएशन कण्ट्रोल है, बट जैतपुर की नहीं हो पा रही है| कांग्रेस लीड बना रही है एन्ड उमा धुर्वे के समर्थक काफी हैं| 

कलेक्टर: मुझे कांग्रेस क्लीन स्वीप चाहिए| मैं आरओ डेहरिया को फ़ोन कर देती हूँ | पूजा तुम्हे एसडीएम का चार्ज लेना है तो जैतपुर में बीजेपी को विन कराओ 

डिप्टी कलेक्टर: ओके मैम मैं मैनेज करती हूँ, बट कोई इन्क्वायरी तो नहीं होगी| 

कलेक्टर: मैं हूँ| मेहनत कर रही हो तो बीजेपी गवर्नमेंट बनते ही तुम्हे एसडीएम का चार्ज मिलेगा|