किसान चिंता न करे, ओले-बारिश से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई करेगी सरकार: CM

-The-farmers-will-not-worry

भोपाल| मध्य प्रदेश में बदलते मौसम ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी है| पाले से खराब हुई फसलों के बाद अब बेमौसम बारिश ओलावृष्टि किसानों के लिए मुसीबत बन गई है| पिछले दो दिनों में प्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश के साथ ओले गिरे हैं| जिससे कई जगह फसलों से भारी नुकसान पहुंचा है| किसानों के लिए इस संकट की घडी में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राहत भरी बात कही है| उन्होंने किसानों को चिंता नहीं करने की सलाह देते हुए फसल नुकसान की भरपाई का एलान किया है| 

प्रदेश में बदले मौसम के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसानों को राहत देने की घोषणा की है| उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “किसान भाई चिंतित ना हो ,सरकार आपके साथ। ओले – बारिश से फ़सलो को हुए नुक़सान का सर्वे करवाकर भरपाई करेगी सरकार। संकट की हर घड़ी में सरकार आपके साथ”।


भ्रष्टाचार के गठजोड़ को उजागर करेंगे

सीएम कमलनाथ ने कर्जमाफी योजना में सामने आ रही गड़बड़ियों पर भी कड़ी कार्रवाई की बात कही है| उन्होंने ट्वीट कर लिखा है “किसानो के कर्ज़ माफी के हमारे ऐतिहासिक निर्णय के बाद प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से सामने आ रहे पिछली सरकार के समय के फर्जी लोन के मामले व फर्जीवाड़े के सभी मामलों की जाँच करवाकर दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करेंगे, किसानो के नाम पर वर्षों से चल रहे भ्रष्टाचार के गठजोड़ को उजागर करेंगे”

कई जिलों में बारिश के साथ गिरे ओले, दो दिन ऐसा ही रहेगा मौसम 

प्रदेश के सिवनी-मालवा में सुबह और बैतूल में दोपहर के समय तेज बारिश के साथ जमकर ओले गिरे। इसके अलावा शहडोल, सतना, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, मुरैना, छतरपुर में भी ओलावृष्टि हुई। इससे फसल खराब होने की संभावना जताई जा रही है और किसान चिंतित हैं। अचानक हुई बारिश और ओलावृष्टि से गेहूं, चना, मटर के साथ मैथी, हरी धनिया, पालक, सेमी की फसल को खासा नुकसान हुआ है। फसलों के साथ धान खरीदी केंद्रों में खुले में बिना सुरक्षा के रखी हजारों क्विंटल धान भीग गई। इससे किसानों को नुकसान हो सकता है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक दक्षिणी मप्र पर बने सिस्टम के कारण गरज-चमक के साथ बरसात होने का सिलसिला शुरु हुआ है। साथ ही वर्तमान में हवा का रुख उत्तर-पूर्वी बना हुआ है। इससे वातावरण में ठंडक बढ़ गई है। इस तरह की स्थित अभी दो दिन तक बनी रहने के आसार हैं। इस दौरान प्रदेश के दक्षिणी क्षेत्र में बरसात की संभावना है। आसमान साफ होने के बाद एक बार फिर ठंड के तेवर तीखे होने के आसार हैं।