वित्त आयोग ने खोल दी शिवराज सरकार के फर्जी आंकड़ो की पोल : अजय सिंह

The-Finance-Commission-has-opened-the-papers-of-the-fake-data-of-Shivraj-Sarkar--Ajay-Singh

भोपाल। 

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आज  भाजपा शासित प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री पर जमकर हमला बोला। उन्होंने ��हा कि शिवराज सिंह चौहान ने पिछले 15 साल में इस प्रदेश की जनता को जो धोखा दिया और अपने विकास के फर्जी आंकड़े पेश किए उसकी पोल 15वें वित्त आयोग ने खोल दी है। कृषि विकास दर को दुनिया में सबसे ज्‍यादा मध्यप्रदेश की बताकर खूब प्रचार कर अपनी ब्रांडिंग शिवराज सरकार ने की लेकिन वित्त आयोग ने स्पष्ट कहा कि इसके बावजूद मध्य प्रदेश में गरीबी बढ़ी है। उन्होंने कहा कि गरीबी का रेशो देश में 21 फीसदी है तो मध्यप्रदेश में 30 फीसदी है। 

उन्होंने यह भी कहा कि मध्य्प्रदेश की प्रति व्‍यक्ति आय भी कई राज्यों  के मुकाबले कम है, मानव विकास मूल्यांकन में भी प्रदेश की स्थिति खराब है। पूर्व की भाजपा सरकार 15 साल तक प्रदेश को बीमारू राज्य से बाहर निकालने का दावा करती रही। जाहिर है कि फर्जी आंकड़ों के जरिए शिवराज सरकार ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा किया और अपने खोखले विकास की खुद ही पीठ थपथपाई।

अजय सिंह ने 15 सालों तक प्रदेश में राज करने वाली भाजपा सरकार को कटघरे में घेरते हुए पूछ कि जब कृषि क्षेत्र में बहुत विकास हुआ तो राज्य की प्रति व्‍यक्ति आय कम क्यों है, गरीबी रेखा अधिक क्‍यों है, मानव विकास सूचकांक की स्थिति क्यों खराब है। शिवराज सरकार ने पिछले पांच सालों में झूठ बोला कि आर्थिक वृद्धि दर दो अंकों में है अब वित्त आयोग के सामने पोल खुली कि कभी भी मध्‍यप्रदेश की विकास दर दो अंकों में नहीं रही। यह 9.45 प्रतिशत ही थी जबकि शिवराज सिंह ने इसे 12 प्रतिशत तक प्रचारित किया। 

उन्होंने यह भी कहा कि अब शिवराज सरकार का चालाकी से छुपाया गया झूठ सामने आया कि शिक्षा और स्‍वास्‍थ्‍य  में मानव विकास के आंकड़ों में देश में सबसे पिछड़ा है। इसी प्रकार कुपोषण में भी सबसे खराब स्थिति है। झूठ की हमेशा जीत नहीं होती। अब झूठ की पोल खुलना शुरू हुई है। अब लोगों को पछतावा हो रहा है कि झूठों के सरदार को इतने सालों क्यों बर्दाश्त किया।