AXIS BANK का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर ठगी करने वाला गिरोह गिरफ्तार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल सायबर पुलिस ने एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर ठगी करने वाले गिरोह के सरगना सहित 05 आरोपियों को गुरुग्राम हरियाणा से गिरफ़्तार किया गया है। दरअसल रोशन वर्मा निवासी भोपाल के द्वारा सायबर क्राइम ब्रान्च भोपाल में लिखित शिकायत आवेदन दिया था कि 5 अप्रैल को एक मोबाइल नंबर से एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर अधिकारी का फोन आया और क्रेडिट कार्ड के रिवार्ड पाइंट रिडीम करने के नाम पर फरियादी से क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेकर 99,928/- रुपये की धोखाधडी की गई। शिकायत आवेदन में आये तथ्यों एवं प्राप्त तकनीकि जानकारी के आधार पर बैंक खाता एवं धोखाधडी में उपयोग किये गये मोबाइल नंबरों के उपयोगकर्ताओं के विरूद्व पुलिस ने मामला दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें… भोपाल के करोंद में अतिक्रमण हटाने के दौरान कांग्रेस नेता का जमकर हंगामा

भोपाल सायबर क्राइम पुलिस की टीम द्वारा मामला दर्ज करने के बाद पुलिस ने मामलें की तहकीकात की तो तकनीकि एनालिसिस से प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर गुरुग्राम से काॅल सेंटर संचालित करने वाले गिरोह के सरगना सहित कुल 05 आरोपीगणों को गिरफ्तार किया गया है एवं आरोपीगणों से अपराध में प्रयुक्त 17 मोबाइल फोन, 36 सिम कार्ड एवं 15 एटीएम कार्ड जप्त किये गये है।

ऐसे करते थे ठगी

आरोपी कमल सैनी लोगों को एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर अधिकारी बनकर काॅल करता था तथा फरियादी से काॅल पर प्राप्त कार्ड की जानकारी को वाॅलेट में ट्रांसफर करने हेतु सह आरोपी दिनेश मीना को प्रदाय करता था जो फरियादी के क्रेडिट कार्ड से रुपये फर्जी तरीके से तैयार किये गये वाॅलेट में ट्रांसफर कर लेता था , आरोपी वाॅलेट में प्राप्त रुपयों को तत्काल सह आरोपी धोरव के द्वारा उपयोग किये जाने वाले किराये के बैंक खातों में ट्रांसफर कर लेते थे। रुपये बैंक खाते में आने पर सह आरोपी धोरव तत्काल रुपयों को एटीएम से निकाल लेता था एवं शेष राशि सह आरोपी अविनाश कश्यप के बैंक खाते में ट्रांसफर कर देता था।

यह भी पढ़ें… परीक्षा की कॉपी में छात्र ने लिख दिया इस सिंगर का गाना, वायरल हो रही है कॉपी, जाने मामला

मामलें में गिरफ्तार आरोपी कमल सैनी निवासी दिल्ली बीकाॅम काॅल कर क्रेडिट कार्ड की जानकारी प्राप्त करता था, फिर वही दूसरा आरोपी दिनेश मीणा निवासी दिल्ली बी.ए. प्राप्त जानकारी के आधार पर क्रेडिट कार्ड से वाॅलेट में रुपये ट्रांसफर करता था, तीसरा आरोपी अविनाश कष्यप निवासी दिल्ली इंजीनियरिंग डिप्लोमा स्वयं के खाते में पैसे जमा करवाना एवं अन्य बैंक खातो की व्यवस्था करता था, वही चौथा आरोपी धोरव निवासी दिल्ली 10वीं किराये पर खातों की व्यवस्था करना एवं एटीएम से पैसे नगद निकाल कर सहआरोपियों को देता था, पाँचवा आरोपी गौतम केसरी निवासी दिल्ली 8बीं किराये पर स्वयं के खाते उपलब्ध करवाता था।

पुलिस ने जारी की एडवायजरी
वर्तामान में सायबर ठगो द्वारा क्रेडिट कार्ड के रिवॉर्ड पॉईंट ने नाम पर फोन किया जाता है, जिसे उपयोग करने तथा रिवॉर्ड पॉईंट सेटलमेन्ट करने का एवं शॉपिंग करने का बोलते है। क्रेडिट कार्ड या रिवॉर्ड पॉईंट से किसी भी प्रकार की शॉपिंग करते समय उसकी सत्यता एवं विश्वसनीयता की जांच करने के उपरांत ही शॉपिंग या व्यवसाय करें एवं क्रेडिट कार्ड की जानकारी व OTP किसी से भी सांझा न करें।

निम्न बातों का हमेशा ध्यान रखेः.
1. बैंक या कम्पनी द्वारा रिवॉर्ड पॉईंट या केश रिवॉर्ड देने के नाम पर कोई कॉल या फोन नही किया जाता है ।
2.  क्रेडिट कार्ड कम्पनीध्बैंक द्वारा क्रेडिट कार्ड की जानकारी व ओण्टीण्पी कॉल कर नही मांगा जाता है।
3. ऑनलाईन शॉपिंग करते समय सतर्क रहें एवं सायबर ठगों से बचे।
4. ऑनलाईन खरीददारी के लिए ऐसे बैंक खाता का इस्तेमाल करें जिसमें कम बैलेंस हो ।
5. किसी भी अननॉन बेवसाईट से कोई एप्पलीकेशन डाउनलोड न करें।
6. कभी भी किसी के साथ अपना ओपीटध्सीवीवीध्पासवर्डध्पिन आदि शेयर न करें ।
7. ऑनलाईन अथवा फोन पर दिये गये लुभावने ऑफर के लालच में न पड़े ।
8. किसी अननॉन लिंक पर क्लिक न करें ।
9. कैश बैक या कैश रिवॉर्ड के नाम पर प्राप्त मैसेज में दिये गये नंबर पर कॉल न करें जानकारी के लिए अपने बैंक में जाकर जानकारी प्राप्त करें ।

नोटः. सायबर काईम संबंधित घटना घटित होने की सूचना भोपाल सायबर क्राइम के हेल्पलाइन नम्बर 9479990636 अथवा राष्ट्रीय हेल्पलाईन नंबर 1930 पर दे ।