सुसाइड करने ट्रेन के सामने पहुंची युवती, ऑटो चालक ने बचाई जान, सीएम ने कहा- थैंक यू

उन्होंने लिखा - मैं ऑटोरिक्शा चालक मोहसिन को बेटी का जीवन बचाने के लिए धन्यवाद देता हूँ।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने एक वीडियो को शेयर करते हुए प्रदेश के लोगों, खासकर युवाओं से बहुत मार्मिक अपील की है।  सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में एक युवती रेलवे ट्रेक पर सुसाइड (Suicide) के इरादे से खड़ी हो जाती है। रेलवे क्रॉसिंग पर बहुत से लोग उसे देखते हैं तभी एक ऑटो चालक (Auto Driver) दौड़कर युवती को ट्रेक से खींचकर लाता है और उसकी जान बच जाती है।

एक मिनट 35 सेकण्ड के इस वायरल वीडियो में एक रेलवे क्रॉसिंग पर मुंह पर कपडा बांधे युवती खड़ी है। पास में ही एक ऑटो भी खड़ा है सवारियां बैठी हैं, कुछ अन्य लोग भी ट्रेन के निकलने का इन्तजार कर रहे हैं। ऑटो में बैठा कोई व्यक्ति स्थिति को भांपकर वीडियो बनाने लगता है। ट्रेन की आवाज जैसे ही सुनाई देती हैं युवती तेज कदमों से अचानक रेलवे क्रॉसिंग के नीचे से निकलकर ट्रेक पर खड़ी हो जाती है। लोग जब तक कुछ समझ पाते ऑटो चालक दौड़कर ट्रेक पर पहुँचता है और युवती को खींचकर लाता है, तब तक और लोग जिनमें कुछ महिलाएं और लड़कियां भी शामिल हैं लड़की को पकड़ लेते हैं। लड़की जोर जोर से रो रही है चिल्ला रही है ।

 ये भी पढ़ें – शिवराज सिंह चौहान ने बनाया नया कीर्तिमान, पढ़िए पूरी खबर

आजतक के एसोसिएट एडिटर रविश पाल सिंह द्वारा ट्विटर पर पोस्ट इस वीडियो के बारे में ये नहीं बताया गया है कि ये कहां का है, लेकिन इतना लिखा है कि – नौकरी ना मिलने से परेशान युवती सुसाइड के इरादे से पटरी पर खड़ी हो गई, ट्रेन आती देख ऑटो ड्राइवर ने खींचकर बचाई जान।  वीडियो हुआ वायरल, ऑटो चालक मोहसिन की सूझबूझ और दिलेरी को सलाम आखिर में उन्होंने नोट डालते हुए लिखा है – सुसाइड किसी समस्या का समाधान नहीं।

ये भी पढ़े – मप्र उपचुनाव 2021: नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान, MP कांग्रेस का भी जीत का दावा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकार रविश पाल सिंह द्वारा ट्वीट किये इस वीडियो को अपने ट्विटर हैंडिल पर भी शेयर किया है। सीएम शिवराज ने  वीडियो के साथ प्रदेश के युवाओं से मार्मिक अपील की है। उन्होंने ट्वीट किया – मैं अपने भांजे-भांजियों से कहना चाहता हूँ कि जीवन में कोई भी समस्या आये तो अपने परिजनों और दोस्तों के साथ बैठकर बात करना ही उचित होता है। बात करने से हर समस्या का समाधान मिलता है। आवेश में आकर उठाया गया कदम हमेशा गलत होता है, आप सदैव अपने मन की बात दूसरों के साथ साझा करें। उन्होंने लिखा – मैं ऑटोरिक्शा चालक मोहसिन को बेटी का जीवन बचाने के लिए धन्यवाद देता हूँ।

ये भी पढ़े – कन्हैया कुमार थामेंगे कांग्रेस का हाथ, पार्टी मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टर बैनर