सोशल मीडिया में हुई दोस्ती और फिर प्यार में युवक ने दी जान, ताज्जुब की कभी प्रेमिका से मिला ही नहीं

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सोशल मीडिया में युवक की किसी युवती से दोस्ती हुई, कुछ दिन बातचीत का सिलसिला चला, इसी बीच दोनों की मोहब्बत परवान चढ़ी दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया, जबकि अब तक यह दोनों मिले ही नहीं थे, फिर अचानक एक दिन युवक ने प्रेमिका से बात करते-करते अपनी जान दे दी, इस युवक ने फांसी लगा ली, कमला नगर इलाके में रहने वाले 18 साल के केतुराज ने यह कदम क्यू उठाया कोई समझ ही नहीं पा रहा है, केतुराज के परिजनों की माने तो जब उसने मौत को गले लगाया तब वह गर्लफ्रेंड से फोन पर बात कर रहा था। दोनों में किसी बात पर कहासुनी हुई, इसके कुछ देर बाद ही उसने जान दे दी।

यह भी पढ़ें… अगर चाहते हैं घर में बनी रहे बरकत, तो भूलकर भी किचन में खाली न होने दें यह 5 चीजें

पुलिस के अनुसार केतूराज चौहान मूलत: खरगोन जिले के बड़वाहा तहसील के जूना पानी गांव का रहने वाला था। प्राइवेट काम करता था। होली पर वह राजीव नगर (भोपाल) में रहने वाले भाई के घर घूमने आया था और तब से यही था, शुक्रवार देर रात 11 बजे केतुराज घर के पीछे  गर्लफ्रेंड मंजू सिसोदिया से फोन पर बात कर रहा था। अचानक केतुराज की आवाज आनी बंद हो गई, परिजनों को लगा शायद फोन कट गया है, लेकिन जब लगातार केतुराज का फोन बजने लगा और वह उसे उठा नहीं रहा तो परिजन मकान के पीछे पहुंचे तो देखा वह फांसी पर लटका था।

यह भी पढ़ें…. रोज एक ही Dish से हो गए हैं बोर और करना चाहते हैं कुछ नया ट्राई तो बनाए पोहे के पापड़, जाने रेसिपी

परिजनों से बातचीत के बाद जो कहानी सामने आई उसके अनुसार केतुराज की मंजू से पिछले 6-7 महीने से बातचीत चल रही थी। इंस्टाग्राम पर दोनों की दोस्ती हुई। मंजू उज्जैन की रहने वाली है। केतुराज ने घर में सभी को बताया था कि वह जल्द शादी कर लेगा। परिजन ने बताया कि केतुराज मंजू पर इस तरह फिदा था कि उसे प्रभावित करने के लिए कई बार ब्लेड से हाथ की नस काट चुका था। इसके वह फोटो भी इंस्टाग्राम पर अपलोड करता था। इसकी जानकारी जैसे ही घरवालों को लगी, तो उन्होंने लड़की से शादी करने की सलाह दी। लेकिन, केतुराज ने बात को टाल दिया। परिवार की मानें तो इस साल के अंत तक केतुराज ने शादी करने का फैसला। वह लड़की से लगातार बात करता था हालांकि इन छह महीनों की दोस्ती में वह उससे मिला नहीं था। लेकिन इसके बावजूद दोनों एक दूसरे को बेहद चाहते थे। घटना के दिन दोनों के बीच कुछ ऐसी बात हुई कि केतुराज ने ऐसा जानलेवा कदम उठा लिया।