चुनाव के दौरान हटाए गए इन IAS-IPS को फिर मिल सकती है मैदानी पोस्टिंग

These-IAS-IPS-become-again-sp-and-collector

भोपाल। लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू होने से लेकर चुनाव परिणाम आने तक चुनाव आयोग ने 4 कलेक्टर एवं 6 पुलिस अधीक्षकों के तबादले किए। साथ ही होशंगाबाद आईजी समेत इंदौर ग्रामीण, भोपाल ग्रामीण एवं छिंदवाड़ा डीआईजी भी बदले गए। आयोग ने सभी अधिकारियों को राजनीतिक दलों की शिकायत एवं उनकी कार्यप्रणाली को हटाया गया था। 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद 27 मई से आचार संहिता हट रही है। इसके बाद चुनाव के दौरान हटाए गए अफसरों को फिर से मैदानी पदस्थापना मिल सकती है। 

लोकसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने अफसरों पर सत्तारूढ़ दल के पक्ष में काम करने के आरोप लगाते हुए शिकायत की थी। यह बात अलग है कि चुनाव परिणाम भाजपा के पक्ष में आए। भाजपा ने डेढ़ दर्जन से ज्यादा कलेक्टरों को हटाने की शिकायत की थी, लेकिन आयोग ने सिर्फ 4 कलेक्टर ही बदले। खास बात यह है कि लोकसभा चुनाव में भाजपा ने सबसे ज्यादा एसपी एवं कलेक्टरों पर कांग्रेस के पक्ष में काम करने के आरोप लगाते हुए हटाने की मांग की थी, चुनाव परिणाम भाजपा के पक्ष में आए। 

इन एसपी एवं डीआईजी पर गिरी गाज

लोकसभा चुनाव के दौरान सतना एसपी संतोष गौर को हटाया गया। उनके स्थान पर मुरैना में कांग्रेस नेता के भतीजे पर केस दर्ज कर विवादों में आए रियाज इकबाल को पदस्थ किया गया। पन्ना एसपी अनिल सिंह कुशवाह, जबलपुर एसपी अमित सिंह, सिंगरौली एसपी हितेष चौधरी एवं दमोह एसपी आरएस बेलवंशी को हटाया गया। इसके अलावा होशंगाबाद आईजी केसी जैन केा हटाकर मकरंद देउस्कर को पदस्थ किया गया। छिंदवाड़ा डीआईजी जीके पाठक, भोपाल ग्रामीण डीआईजी केबी शर्मा एवं इंदौर ग्रामीण डीआईजी डीएस चौधरी को भी बीच चुनाव में हटाया गया। 

इन जिलों के कलेक्टर बदले

चुनाव आयोग ने उमरिया के कलेक्टर अमरपाल सिंह को हटाया। क्योंकि शहडोल लोकसभा से उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह कांग्रेस के टिकट पर चुनाव मैदान में थी। उमरिया शहडोल लोकसभा क्षेत्र में आता है। निमाड़ी कलेक्टर अक्षय सिंह को अचानक हटाया गया। कारण अभी तक खुद अक्षय सिंह को पता नहीं है। इसके अलावा मतदान की प्रक्रिया पूरी होने एवं चुनाव परिणाम से चंद दिन पहले शहडोल कलेक्टर ललित दाहिमा एवं छिंदवाड़ा कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा को हटाया गया। दाहिमा पर मंत्री ओमकार सिंह मरकाम के साथ बैठक करने एवं शर्मा पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति देने के आरोप थे। इसके अलावा भाजपा ने गुना कलेक्टर भास्कर लक्षकार, शिवपुरी कलेक्टर अनुग्रह पी, मुरैना कलेक्टर प्रियंका दास, ग्वालियर कलेक्टर अनुराग चौधरी, सतना कलेक्टर सतेन्द्र सिंह, पन्ना मनोज खत्री, सिंगरौली केवीएस चौधरी, सीधी अभिषेक सिंह, रीवा ओपी श्रीवास्तव, सागर कलेक्टर प्रीति मैथिल एवं अन्य को हटाने की मांग चुनाव आयोग से की थी। 

दाहिमा, अमित को फिर मिलेगा जिला

लोकसभा चुनाव के दौरान हटाए गए एसपी, कलेक्टर को फिर से जिलों में पदस्थ किया जा सकता है। राज्य सरकार एक बार फिर अफसरों की पदस्थापना करने की तैयारी कर रही है। जिसमें अगले कुछ दिनों के भीतर मंत्रालय में सचिव एवं प्रमुख सचिव और विभागाध्यक्षों की बदली की जा सकती है। जिसमें करीब एक दर्जन जिलों के कलेक्टर एवं उतने ही एसपी बदले जा सकते हैं। इस फेरबदल में लोकसभा चुनाव के दौरान हटाए गए ललित दाहिमा, श्रीनिवास तिवारी, अमरपाल सिंह को फिर से जिले में पदस्थ किया जा सकता है। साथ ही जबलपुर एसपी से हटाए गए अमित सिंह को फिर से बड़े जिले में पदस्थ किया जा सकता है।