निकाय चुनाव से पहले बदले जाएंगे शिव ‘राज’ में पदस्थ ये पुलिस अधिकारी

भोपाल।

सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश की कमलनाथ सरकार अपने हिसाब से अधिकारियों की जमावट कर रही है। एक साल में सरकार द्वारा कई अधिकारी इधर से उधर किए गए है, लेकिन अब भी कई ऐसे जमीनी पुलिस अधिकारी है, जो शिव ‘राज’ में पदस्थ हुए थे, जिनके प्रभार नहीं बदले गए। अब सरकार इन अफसरों को पदस्थापना करने में जुटी हुई है। खबर है कि नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के मद्देनजर  शिवराज सरकार के समय मैदानी पदस्थापना पाने वाले कुछ अधिकारियों की तबादले किए जा सकते हैं।इन्हें निकाय चुनाव की आचार संहिता प्रभावित होने से पहले बदला जा सकता है।सुत्रों की माने तो लोकसभा चुनाव में करारी हार झेल चुकी कांग्रेस निकाय चुनाव में कोई रिस्क नही लेना चाहती है, इसके के चलते मैदानी स्तर पर अपनी आप को मजबूत करने में जुटी है। यही वजह है कि वो बीजेपी से सॉफ्ट कॉर्नर रखने वाली सरकारी जमात को हटाना चाहती है।

बदले जा सकते है ये अधिकारी

-सागर आईजी सतीश सक्सेना । सबसे पुराने अधिकारी है। सितंबर 2016 में पदस्थ ।पूर्व सीएम दिग्विजय के मुख्यमंत्रित्वकाल में उनके स्टाफ में पदस्थ रहे थे।

– डीआईजी बीएस चौहान ।दिसंबर 2016 में पदस्थ।

-उज्जैन एसपी सचिन अतुलकर ।जुलाई 2017 में पदस्थापना ।

-डीआईजी होशंगाबाद आरए चौबे व डीआईजी छतरपुर अनिल माहेश्वरी । विधानसभा चुनावी वर्ष 2018 में जनवरी में पदस्थापना।

-छिंदवाड़ एसपी बन विवादों में आए गौरव तिवारी जुलाई 2018 में रतलाम एसपी बनाए गए तो अक्टूबर 2018 में एसपी निवाड़ी मुकेश कुमार श्रीवास्तव बना दिए गए थे।

इसके अलावा इनके नाम भी शामिल

-आईजी बालाघाट केपी वैकेंटश्वर राव

-आईजी उज्जैन राकेश गुप्ता

-डीआईजी रीवा अविनाश शर्मा

-डीआईजी शहडोल पीएस उइके

– एसपी ग्वालियर नवनीत भसीन

-एसपी भिंड रुडोल्फ ।