उपचुनाव से पहले इस भाजपा नेता की हो सकती है कांग्रेस में वापसी!

भोपाल| कोरोना (Corona) संकटकाल के चलते आगामी समय में होने वाले उपचुनावों (By-election) को लेकर तैयारियां रुकी हुई है| हालाँकि अंदरखाने रणनीति तैयार हो रही है| विधानसभा चुनाव के ऐन पहले कांग्रेस छोडक़र भाजपा में जाने वाले प्रेमचंद गुड्डू (Premchand Guddu) की वापसी की तैयारी है| मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह वापसी पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के माध्यम से हो सकती है| गुड्डू को सांवेर विधानसभा क्षेत्र में तुलसी सिलावट के खिलाफ मैदान में उतारा जा सकता।

प्रेमचंद गुड्डू 2018 में विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे और उनके बेटे ने भाजपा के टिकट पर उज्जैन में घट्टिया विधानसभा से चुनाव लड़ा, लेकिन वह हार गए। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय गुड्डू को पार्टी में ले आए, लेकिन विधानसभा चुनावों के बाद वे कभी भी पार्टी में सक्रिय नहीं रहे। प्रेमचंद गुड्डू इंदौर की सांवेर विधानसभा सीट से विधायक रहे हैं। 2008 में उन्होंने उज्जैन से लोकसभा चुनाव लड़ा था। तब उन्होंने बीजेपी के बड़े दलित नेता सत्यनारायण जटिया को हराया था। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले ऐसी अटकलें थीं कि गुड्डू कांग्रेस में लौट आएंगे, लेकिन पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के विरोध के कारण ऐसा नहीं हुआ। चर्चा है कि सिंह और गुड्डू दोनों ने इसके बारे में चर्चा की। कोरोनवायरस से कुछ राहत मिलने के बाद, गुड्डू की कांग्रेस में वापसी के बारे में औपचारिक घोषणा की जा सकती है|

प्रदेश की राजनीती में गुड्डू को दिग्विजय का समर्थक माना जाता है| बताया जाता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण गुड्डू ने कांग्रेस छोड़ दी थी। सिंधिया ने गुड्डू को उज्जैन में एक समारोह में मंच तक जाने से रोका और उनके बेटे को आलोट से टिकट नहीं दिया गया। इन दोनों घटनाओं ने गुड्डू को इतना आहत किया कि उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी। उपचुनाव में सिलावट के खिलाफ कांग्रेस के पास कोई मजबूत उम्मीदवार नहीं है। इसलिए, अगर गुड्डू को सिलवट के खिलाफ मैदान में उतारा जाता है तो टक्कर रोचक हो सकती है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here