बैंगलुरु घटनाक्रम : राज्यपाल से मिलने पहुंचे 70 कांग्रेस विधायक, की ये मांग

भोपाल।

एमपी में जारी घमासान के बीच पल पल घटनाक्रम मे बदलाव देखने को मिल रहा है।एक तरफ बैंगलुरु में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह आमरण अनशन पर बैठ गए है वही सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों और फ्लोर टेस्ट को लेकर सुनवाई की जा रही है। इसी बीच कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल फिर राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने पहुंचा है।इस दौरान कांग्रेस के करीब 70 विधायक भी बस में सवार होकर राजभवन पहुंचे ।यहां उन्होंने बेंगलुरु में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, कैबिनेट मंत्री-विधायकों के साथ हुई अभद्रता को लेकर राज्यपाल से शिकायत की।वही पुलिस द्वारा दिग्विजय सिंह को कांग्रेस के बागी विधायकों से ना मिलने की भी बात कही। उन्होंने राज्यपाल कहा कि आप अपने संविधानिक अधिकार का इस्तेमाल करते हुए बंधक बनाए गए विधायकों को भोपाल के लिए  ज्ञापन सौंपा।

वही राजभवन के बाहर मीडिया से चर्चा करते हुए मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि बीजेपी लोकतंत्र की हत्या कर रही है। राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह अपने विधायकों (मतदाताओ)से बेगलुरु मिलने गए थे ।उनको क्यों नही मिलने दिया जा रहा है।अगर उन्हें वोट नही देना है तो साफ मना कर दे। वो अकेले मिलेंगे ये मांग कर रहे थे। अकेले दिग्विजय सिंह होटल के अंदर जाते, ऐसे में अकेले किसी के लिए वो खतरा कैसे हो सकते है।वही विधायकों के ना मिलने को लेकर कहा कि वो ये बात आकर मप्र आकर कहे। मप्र से उन्होंने चुनाव लड़ा है और यही से जीते है तो वहां से क्यो बयान दे रहे है।कर्नाटक की जनता ने तो उन्हें नही चुना, मध्यप्रदेश की जनता ने उन्हें चुना है।

सुरक्षा को लेकर कहा कि अगर मध्यप्रदेश में 107 विधायक सुरक्षित रह सकते है तो ये 16 क्यों नही।अगर खतरा है तो सीआरपीफ, जीआरपी या आर्मी लेकर आए लेकिन मध्यप्रदेश में आकर अपना फैसला सुनाए।

 

बैंगलुरु घटनाक्रम : राज्यपाल से मिलने पहुंचे 70 कांग्रेस विधायक, की ये मांग