कोरोना काल में पहली से आठवीं तक के बच्चों को सरकार का यह तोहफा

भोपाल| पहली से आठवीं के छात्रों को शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने तोहफा दिया है| प्रदेश में इस सत्र में पहली से आठवीं तक परीक्षाएं नहीं ली जाएंगी। कोरोना (Corona) के खतरे को देखते हुए सरकार ने प्रायमरी (Primary) और मिडिल (Middle) में जनरल प्रमोशन देने का निर्णय ले लिया है। राज्य शिक्षा केन्द्र ने जनरल प्रमोशन देने सम्बंधित आदेश जारी कर दिए हैं| प्रत्येक विद्यार्थी की मार्कशीट तथा टीसी पर “कोरोना संक्रमण बचाव के कारण प्रोन्नत” की सील लगाई जायेगी|

दरअसल, कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार ने पहली से आठवीं तक के छात्रों को जनरल प्रमोशन देने का फैसला किया है| राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा जारी आदेश के मुताबिक प्रदेश के ऐसे अशासकीय/अनुदान प्राप्त विद्यालय जिनमे कक्षा पहली से आठवीं की वार्षिक परीक्षाएं 19 मार्च या उससे पूर्व संपन्न हो चुकी है, वे परीक्षा का परिणाम नियमानुसार करेंगे, लेकिन किसी भी विद्यार्थी को उसी कक्षा में रोका नहीं जाएगा| जिन स्कूलों में परीक्षाएं नहीं हुई, उनमे अध्यनरत विद्यार्थियों को शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 की धारा-16 के प्रावधान के अनुरूप मासिक, अर्धवार्षिक एवं आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली क्लास में प्रोन्नत किया जाएगा|

प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों में भी मासिक, अर्धवार्षिक एवं आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली क्लास में प्रोन्नत किया जाएगा| वहीं प्रत्येक विद्यार्थी की मार्कशीट तथा टीसी पर “कोरोना संक्रमण बचाव के कारण प्रोन्नत” की सील लगाई जायेगी|

कोरोना काल में पहली से आठवीं तक के बच्चों को सरकार का यह तोहफा