लोकसभा चुनाव की तैयारी, बीजेपी ने हारे हुए नेताओं को सौंपी जीत की जिम्मेदारी

This-important-responsibility-given-to-the-defeated-leaders-of-BJP

भोपाल। तीन राज्यों (राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश) के विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद भाजपा नई रणनीति के साथ लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुट गयी है। ऐसा माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह आगामी लोकसभा चुनाव में आक्रामक रणनीति के साथ मैदान में आयेंगे। इसी के चलते सभी 29 लोकसभा सीटों पर प्रभारी और संयोजक नियुक्त कर दिए गए है। खास बात ये है कि जो नेता विधानसभा चुनाव हार गए थे, उन्हें ही यह जिम्मेदारी सौंपी गई है।भोपाल लोकसभा में उमाशंकर गुप्ता, जसवंत सिंह हाड़ा जैसे नेताओं को संयोजक और प्रभारी बनाया गया है।वही इंदौर का चुनाव संचालन अरविंद कोठेकर व रमेश मेंदोला के हाथ में होगा। ऐसे में पार्टी को इन नेताओं के कारण फिर नुकसान उठना पड़ सकता है।

दरअसल, जिन नेताओं को प्रदेशभर में लोकसभा चुनाव की तैयारी में लगाया गया है, उनमें ज्यादातर के खिलाफ क्षेत्र में भारी नाराजगी है। इसी कारण या तो वे चुनाव हार गए या पार्टी ने ही उन्हें चुनाव मैदान में नहीं उतारा। संगठन से जुड़े नेताओं को लेकर भी पार्टी कार्यकर्ताओं में नाराजगी है। भाजपा नेताओं का मानना है कि ऐसे में पार्टी को विधानसभा चुनाव की तरह लोकसभा चुनाव में भी हार का सामना करना पड़ सकता है। जिनके कारण पार्टी हारी उनके मौका ना देकर अन्य नए लोगों को आगे किया जाना चाहिए। बताते चले कि उमाशंकर गुप्ता भाजपा सरकार में लंबे समय तक मंत्री रहे। विधानसभा चुनाव हारने के बाद अब पार्टी ने भोपाल लोकसभा चुनाव का संयोजक बनाया है। वही जसवंत सिंह हाड़ा शाजापुर से विधायक रहे जसवंत सिंह हाड़ा को विधानसभा चुनाव का टिकट देना भी उचित नहीं समझा था। उन्हें पार्टी ने भोपाल लोकसभा चुनाव प्रभारी का दायित्व सौंपा है।

माना जा रहा है कि गणतंत्र दिवस के बाद से यह बड़े स्तर पर काम करना शुरू हो जाएंगे। भाजपा ने मप्र की 29 लोकसभा सीटों को दस क्लस्टर में भी बांट दिया है। हर क्लस्टर में दो से तीन संसदीय सीटों को रखा गया है। इसी आधार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शाह के दौरे होंगे।  संभावित प्रत्याशियों लेकर भी शाह ने अलग से प्रदेश संगठन का फीडबैक मांगा है। जिसे फरवरी तक देना है। पार्ट को ऐसी उम्मीद है कि 4 मार्च के आसपास चुनावी कार्यक्रम का ऐलान हो सकता है। 

इन्हें सौंपी गई है जिम्मेदारी

-मुरैना जयसिंह कुशवाह, शिवमंगल सिंह तोमर 

-भिण्ड प्रभारी वेदप्रकाश शर्मा

-सह प्रभारी हरीश मेवाफरोश

-ग्वालियर प्रभारी विजय दुबे

-गुना प्रभारी महेन्द्र यादव

-सागर प्रभारी राजेन्द्र गुरू,

-टीकमगढ़ प्रभारी सुधीर अग्रवाल

-सह प्रभारी धरमू राय

– दमोह प्रभारी उमेश शुक्ला

-खजुराहो प्रभारी नंदकिशोर नापित

-सतना प्रभारी रामसिंह पटेल

रीवा प्रभारी बृजबिहारी शर्मा

-सीधी प्रभारी राजेन्द्र शुक्ल,

-शहडोल प्रभारी गिरीश द्विवेदी

-जबलपुर प्रभारी गोपाल भार्गव

-मंडला प्रभारी गौरीशंकर बिसेन

-सह प्रभारी शशांक श्रीवास्तव

-बालाघाट प्रभारी कन्हाईराम रघुवंशी

-सह प्रभारी सुरेश देशपाण्डे

-छिंदवाडा प्रभारी कैलाश सोनी

-सह प्रभारी भगतसिंह नेताम

-होशंगाबाद प्रभारी अलकेश आर्य

-विदिशा प्रभारी सुरेश आर्य

-भोपाल प्रभारी जसवंत सिंह हाड़ा

-राजगढ़ प्रभारी भक्तपाल सिंह

-देवास प्रभारी पंकज जोशी

-प्रभारी बहादुर मुकाती

-मंदसौर प्रभारी अनिल जैन कालूहेड़ा 

-रतलाम-झाबुआ प्रभारी किशोर खण्डेलवाल

-सह प्रभारी महेन्द्र सिंह चाचू बना

-धार प्रभारी बाबूसिंह रघुवंशी

-सह प्रभारी कलसिंह भाबर

-इंदौर प्रभारी अरविन्द कवठेकर

-खरगौन प्रभारी नागरसिंह चौहान

-सह प्रभारी पुरुषोत्तम शर्मा

-खण्डवा प्रभारी अंबाराम कराड़ा

-बैतूल लोकसभा क्षेत्र के लिए संतोष पारीख को प्रभारी नियुक्त किया गया।