स्पेशल DG साइबर सेल के नेतृत्व में मिली बड़ी सफलता, ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

Thug-gang-ransack-by-mp-cyber-cell-police

भोपाल। मध्य प्रदेश में लगातार साइबर सेल को आनलाइन धोखाधड़ी करने वालों को पकड़ने मे ंसफलता मिल रही है। एक बार फिर स्पेशल DG साइबर सेल पुरषोत्तम शर्मा के नेतृत्व में साइबर सेल को बड़ी सफलता हासिल हुई है। इंश्योरेंस पालिसी के नाम पर लोगों को लाखों का चुना लगाने वाले गिरोह का साइबर सेल ने पर्दाफाश किया है। 

स्पेशल डीजी साइबर सेल  पुरषोत्तम शर्मा ने बताया कि एमपी के विभिन्न हिस्सों से सीनियर सिटीजन को इंश्योरेंस पालिसी के वाम पर ठगने की शिकायतें लगातार मिल रही थी। इन शिकायतों पर प्रभावी कार्रवाई के लिए अति. पुलिस महानिदेशक राजेश गुप्ता के मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक साइबर सेल इंदौर जितेंद्र सिंह के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया गया। उन्होंने बताया कि इंदौर निवासी मेथ्यु पुलिकेन ने शिकायत दर्ज करवाी थी कि उनका साथ बीमा पालिसी के नाम पर 39 लाख की ठगी की गई है। जब इस मामले की टीम से जांच की तो सामने आया कि ठगी करने वाले ने 22 बैंक खातोंं का उपयोग किया है व बहुत बड़ी राशि POS मशीन के माध्यम से कार्ड स्वाइप कर खातों में डाली जा रही है और कैश निकाला जा रहा है। 

जसके बाद एक दल दिल्ली भेजा गया। जहां एसआईटी को सौरभ गोयल नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई जिसकी POS मशीन के जरिए फ्राड की लगभग 92 लाख की रुपए की राशी ट्रान्सफर की गई थी। सौरभ ने पूछताछ में बताया कि गिरोह का सरगना चिन्नई निवासी शशिकांत मुदलियार है जो मूल रूप से चैन्नई का रहने वाला है। और वर्तमान में दिल्ली में रहकर ठगी की घटनाएं कर रहा है।