ग्वालियर सीट पर कौन होगा बीजेपी का प्रत्याशी, तोमर बोले पार्टी में बन रहा ‘सीन’

tomar-said-bjp-will-win-Gwalior-and-murena-seat

भोपाल। ग्वालियर लोकसभा से प्रत्याशी कौन होगा यह अभी सीन बन रहा है ओर अगर इसे पहले बता दिया जाएगा तो फिर सीन बनाने वाले क्या करेगें। वैसे भाजपा मुरैना एवं ग्वालियर दोनों लोकसभा चुनाव जीतेगी। चुनाव जब भी होता है तो उसमें कि सको कहां से मैदान में उतारा जाएं इसको लेकर रणनीति तय होती है ओर दूसरे दल की रणनीति पर भी नजर रखी जाती है। यही कारण है कि ग्वालियर को लेकर प्रत्याशी के लिए अभी मंथन चल रहा है। यह बात केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने मुरैना संसदीय क्षेत्र से टिकट मिलने के बाद पहली बार ग्वालियर आने पर पत्रकारो से चर्चा करते हुए कही।

केन्द्रीय मंत्री तोमर सोमवार को जब ग्वालियर आएं तो उनके समर्थक मुरैना से टिकट मिलने पर उन्हें बधाई देने के लिए काफी संख्या में पहुंचे। सीट बदलने के सवाल पर तोमर ने कहा कि भाजपा मेें पार्टी का संगठन सामूहिक रूप से निर्णय लेता है कि किसको कहां से चुनाव लड़ाया जाएं। अब हाईक मान ने मुझे मुरैना भेजना उचित समझा को उक्त निर्णय को हम स्वीकार करते है। ग्वालियर से कौन प्रत्याशी होगा? इस सवाल पर केन्द्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि ग्वालियर को लेकर अभी चर्चा चल रही है ओर सीन जल्द ही आपके सामने आ जाएगा, अगर आपको पहले ही सीन बता दिया तो फिर सीन बनाने वाले क्या क रेगें, लेकिन ग्वालियर से जिसको भी टिकट मिलेगा वह चुनाव जीतेगा ओर मुरैना-श्योपुर में भी हमें मेहनत करनी होगी, क्योंकि चुनाव कोई भी आसान नहीं होता। उल्लेखनीय है कि नरेन्द्र सिंह तोमर वर्ष 2009 में पहली बार लोकसभा मेंं मुरैना संसदीय क्षेत्र से ही चुनाव जीत कर पहुंचे थे ओर बाद में उन्होंने सीट बदलकर वर्ष 2014 में ग्वालियर से चुनाव लड़ा ओर मोदी लहर के बाद भी नजदीकी मतो से चुनाव जीते थे। विधानसभा चुनाव में जिस तरह से भाजपा के प्रत्याशियों की हार हुई थी उसके बाद हारे हुए प्रत्याशियो ने अप्रत्यक्ष तौर पर अंचल के भाजपा के बड़े नेताओ पर हार का ठींगरा फोड़ा था। यही कारण है कि इस बार ग्वालियर में केन्द्रीय मंत्री तोमर को अपने विरोध का खासा खतरा था ओर इसी के चलते उन्होंने सीट बदलने का निर्णय लिया।