विपरीत परिस्थिति में भी परिवहन विभाग ने राजस्व वसूली में मारी बाजी

653

भोपाल| प्रदेश सरकार के खाली खजाने को राहत पहुँचाने में एक बार फिर परिवहन विभाग ने बाजी मारी है| व्ही मधुकुमार, परिवहन आयुक्त मध्य प्रदेश के कुशल मार्गदर्शन में विभाग ने पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 264 करोड़ रुपए की अधिक राजस्व वसूली की है| विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2019 -20 में रुपए 326638 करोड़ राजस्व अर्जित किया गया है, जो विगत वर्ष 2018 की तुलना में लगभग 264 करोड़ अधिक है| तुलनात्मक रूप से यह लगभग 9 प्रतिशत की वृद्धि है| 2018 -19 में रुपए 3002 .85 करोड़ अर्जित किया गया था जो 2017-18 के राजस्व की तुलना में पांच प्रतिशत अधिक था|

वित्तीय वर्ष के अंतिम माह में कोरोना के कारण सम्पूर्ण भारत में लॉक डाउन घोषित होने से एवं वित्तीय वर्ष में देश के परिवहन उद्योग में मंदी के बावजूद विभाग वसूली में सफल रहा| वहीं मंदी के कारण पंजीकृत होने वाले वाहनों में गिरावट दर्ज की गई| मुख्यतः HGV वाहनों के पंजीकरण में 48 प्रतिशत कमी, MGV वाहनों में 15 प्रतिशत की कमी, यात्री वाहनों में 16 प्रतिशत की कमी, दो पहिया वाहनों में 02 प्रतिशत की कमी और चार पहिया वाहनों में आठ प्रतिशत की कमी के बाद भी विभाग ने पिछले साल की तुलना में 264 करोड़ रुपए अधिक प्राप्त किया जो कि 9 प्रतिशत की वृद्धि है|

परिवहन आयुक्त वी. मधु कुमार ने अक्टूबर में जिम्मेदारी संभाली थी। जिम्मेदारी संभालने के बाद से ही कुमार ने सघन चेकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिए थे। प्रदेश में वाहनों के हो रहे अवैध संचालन, स्कूल वाहनों, ओवर लोडिंग कर चलने वाले वाहनों, बकाया टैक्स वाले वाहनों और मोटरयान के नियमों का पालन नहीं करने वाले वाहनों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया जा रहा है। मकसद वाहनों पर बकाया टैक्स की वसूली और नियमों का पालन कराना है। विपरीत परिस्थितियां होने पर भी यह उपलब्धि व्ही मधुकुमार, परिवहन आयुक्त के कुशल मार्गदर्शन में विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा पूर्व कर की वसूली, वन टाइम सेटलमेंट और समय समय पर विभाग द्वारा मोटर यान अधिनियम के विरुद्ध चलने वाले वाहनों के विरुद्ध विशेष अभियान चलकर प्राप्त किया|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here