अब शिवराज के इस मंत्री ने एक्जिट पोल को बताया ‘हवा में लट्ठ मारने जैसा’

4352
uma-shankar-gupta-statement-on-exit-poll-assembly-election

भोपाल।

नतीजों से पहले आए एक्जिट पोल ने सबको चौंकाकर सस्पेंस में डाल दिया है। मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के बीच सरकार बनाने को लेकर कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है। आठ सर्वे में से पांच में कांग्रेस को ज्यादा सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं, हालांकि स्पष्ट पूर्ण बहुमत नहीं मिलता दिखाई दे रहा है। पोल ने जहां कांग्रेस को खुशी दी है वही भाजपा के माथे पर चिंता की लकीरें उभार दी है। बावजूद इसके मुख्यमंत्री समेत भाजपा नेता जीत का दंभ भर रहे है। प्रदेश के राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने एक्जिट पोल के नतीजों को हवा में लठ्ठ चलाने जैसा बताया है। 

दरअसल, शुक्रवार को एक के बाद एक आए एक्जिट पोल के बाद एक के बाद एक नेताओं की प्रतिक्रियां सामने आ रही है। मुख्यमंत्री शिवराज और प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह के बाद प्रदेश के राजस्व मंत्री और दक्षिण-पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से उमाशंकर गुप्ता ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने एग्जिट पोल को हवा में लट्ठ चलाने जैसा बताया है। उन्होंने कहना है कि एग्जिट पोल का कोई आधार नहीं होता। सत्ता में आना केवल कांग्रेस की भूख है। 11 तारीख तक कांग्रेस को खुश होने दीजिए, सरकार तो केवल बीजेपी की ही बनेगी।वही एग्जिट पोल रिपोर्ट पर मंत्री रामपाल ने कहा कि रिपोर्ट जमीनी हकीकत से बहुत दूर है। शहरी लोगों से एग्जिट पोल के लिए फीडबैक लिया गया।सर्वे ग्रामीण लोगों की बात नहीं कहता।

शुक्रवार को आए एक्जिट पोल के नतीजे

आज तक के मुताबिक, मध्यप्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है। इस एजेंसी के मुताबिक, मध्यप्रदेश में भाजपा को 102 से 120 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। कांग्रेस के खाते में 102 से 122 सीटें जाती दिख रही हैं। अन्य के खाते में 4 से 11 सीटें जा सकती हैं। 

एबीपी और सीएसडीएस के एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश के चंबल की 34 सीटों में से 36 प्रतिशत भाजपा के खाते में गईं, कांग्रेस को 43 प्रतिशत सीट मिल रही हैं। भाजपा को यहां 10 सीटें मिल सकती है, काग्रेस को 21 सीटें मिल सकती है और अन्य को तीन सीट मिल सकती हैं। एबीपी के अनुसार विध्य की 56 सीटों में से भाजपा को 20 सीट, कांग्रेस को 33 सीट और अन्य को 3 सीट मिल सकती हैं।

इंडिया टुडे- एक्सिस माय इंडिया के सर्वे के अनुसार मप्र में कांग्रेस को 41 प्रतिशत और भाजपा को 40 प्रतिशत सीट मिलने की संभावना है। कांग्रेस को 104 से 122 सीट तो भाजपा को 102 से 120 मिल सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here