सातवीं कक्षा में फेल होने से दुखी छात्र ने लगाई फांसी

Unhappy-student-hangs-due-to-failure

भोपाल। सातवीं कक्षा में एक छात्र ने फेल होने से दुखी होकर फांसी लगा ली। उसकी मां का बीमारी के चलते दो साल पहले निधन हो चुका है। कल परिजनों ने शाम को शव फंदे पर लटका देखने के बाद में उसे उतारकर अस्पताल पहुंचाया था। जहां डाक्टरों ने भी चेक करने के बाद में उसे मृत घोषित कर दिया। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। खुदकुशी के कारणों की जांच की जा रही है।

अशोका गार्डन पुलिस के अनुसार विकास जैन पिता सुनील कुमार जैन (14) निवासी मकान नंबर 6 एफ लाइफ केयर अस्पातल के पास मयूर बिहार कॉलोनी अशोका गार्डन भोपाल अकेडमी स्कूल में सातवीं कक्षा की पढ़ाई कर रहा था। उसके परिवार में एक भाई, एक बहन तथा पिता हैं। जबकि मां का दो साल पहले गंभीर बीमारी के चलते निधन हो चुका है। विकास पढ़ाई में कमजोर था, पिछले दिनों सातवीं कक्षा का उसका रिजल्ट आया था। जिसमें वह फेल हो गया था। पुलिस का कहना है कि स्कूल प्रायवेट था, स्कू ल वालों ने उसे दोबारा परीक्षा देने का मौका दिया था। जिसका रिजल्ट दो दिन पहले आया। इस बार विकास संस्कृत,गणित,विज्ञान और समाजिक विज्ञान में फे ल हो गया था। स्कूल वालों ने उसके भाई और बहन को बुलाकर उसका रिजल्ट दिखाया था। जिसके बाद से छात्र डिपरेशन में था। कल दोपहर को परिजन घर के ग्राउंड फ्लोर में सोए हुए थे। तभी विकास ने प्रथम तल शेड के पाइप से बहन के दुपट्टे का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। करीब चार बजे जब परिजनों की नींद खुली तो विकास की तलाश की। पहली मंजिल पर जाकर देखा तो विकास का शव फंदे पर लटका था। जिसे उतारकर तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डाक्टरों ने मौत की पुष्टी की और पुलिस को सूचना दी।

– अस्पताल पहुंचकर शव कब्जे में लिया

पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर शव को कब्जे में लिया। लाश का पीएम के लिए रवाना किया। इसके बाद में पुलिस एफएसएल की टीम के साथ में मृतक के घर पहुंची और घटना स्थल का मुआएना किया। जहां से पुलिस को कोई सुससाइड नोट नहीं मिला है। परिजनों ने बातचीत में फेल होने के बाद में विकास द्वारा उदास रहने की बात पुलिस को बताई थी। पुलिस का कहना है कि रिश्तेदारों के डिटेल बयान दर्ज किया जाना बाकी है।