कांग्रेस का अनोखा प्रदर्शन, बिना इंजन की मोदीफाइड कार में लोगों को कराई यात्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पेट्रोल-डीजल के दामों में रोजाना हो रही बढ़ोत्तरी से आसमान छू रहीं महंगाई के विरोध में रविवार को  राजधानी में कांग्रेस के एक अनोखे प्रदर्शन ने जनता का ध्यान का खींचा। भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म एक नंबर पर बिना इंजन की एक कार यात्रियों को उनके मुकाम तक पहुंचा रही थी। इस कार को मोदीफाइड कार नाम दिया गया, जिसका नंबर MODI-9-2-11 था। कार बिना इंजन की थी, इसलिए इसमें पेट्रोल-डीजल की जरूरत नहीं थी। इस कार में लोगों को बैठाकर कांग्रेस नेता मनोज शुक्ला खींच रहे थे।

मोदी सरकार ने बढ़ाया MP का मान, शिक्षाविद डॉ जीपी शर्मा राष्ट्रीय शिक्षा नीति संचालन समिति में शामिल

उनके साथ बड़ी संख्या में क्षेत्र के युवाओं और महिलाओं ने प्रदर्शन में भाग लेकर महंगाई के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया। इस प्रदर्शन के जरिए संदेश दिया गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने आज देश को उस जगह लाकर खड़ा कर दिया है कि जहां आम आदमी को ही हर जगह कोलू के बेल की तरह तरफ जुतना है। लोगों ने सपने में भी नहीं सोचा था कि पेट्रोल-डीजल 100 रुपए से ऊपर होंगे। जनता पिस रही होगी और एक नेता अपनी शान में झूठे कसीदे गढ़ने और पढ़ने में व्यस्त होगा।

गरबा पंडालों में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर किसने लगाई रोक !

स्थानीय नागरिकों के साथ कांग्रेस का यह प्रदर्शन पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही बेहताशा बढ़ोत्तरी के खिलाफ था। इस मौके पर कांग्रेस नेता मनोज शुक्ला ने कहा कि कभी पेट्रोल-डीजल के दाम 50-60 रुपए प्रतिलीटर पहुंचने पर मचाने वाले भाजपा के नेता इस वक्त जनता से मुंह छिपाकर भाग रहे हैं। जनता की लड़ाई और जनता की भलाई की बात कहने वाले भाजपा नेता अपने तथाकथित वैश्विक नेता की नाकामियों पर पर्दा डालने में लगे हैं, जिनकी नीतियों ने मुकेश अंबानी को तो बेजोस के बराबर लाकर दुनिया का सबसे रईस लोगों में शुमार कर दिया लेकिन गरीब आदमी को सड़क पर ला दिया।

आखिर क्यों प्रबंध संचालक ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मांगे 850 करोड़, क्या नहीं टला अंधेरा छा जाने का संकट !

कांग्रेस नेता मनोज शुक्ला ने कहा कि सरकार में होने के कारण प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के नेता चाहे कितनी मनमानी कर लें, अपनी नाकामियों को कितना भी छिपा लें, अपने छुपे एजेंडा को चाहे कितना भी लागू कर दें, लेकिन जनता के मन की बात यही है कि अगले चुनाव में इनकी जमानत भी जब्त होगी।