University Exams 2020 : कॉलेज परीक्षाओं को लेकर मंत्री मोहन यादव का बड़ा बयान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  एमपी (MP) में कॉलेज की परीक्षाओं को लेकर प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव (Higher Education Minister Dr. Mohan Yadav) का बड़ा बयान सामने आया है। उच्च शिक्षा मंत्री ने 30 सितंबर तक परीक्षा करवा कर 30 अक्टूबर तक रिजल्ट जारी करने की बात कही है। साथ ही उन्होंने ओपन बुक परीक्षा प्रणाली की भी सराहना की है।

मंत्री ने कहा है कि स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर (Postgraduate second semester) के परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम आंतरिक मूल्यांकन का 50 प्रतिशत तथा विगत सत्र अथवा सेमेस्टर के प्राप्तांकों का 50 प्रतिशत जोड़कर घोषित किया जायेगा। इसी तरह स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर(Graduate Final Year and Postgraduate IV Semester) के लिये ओपन बुक परीक्षा (Open book exam) के प्राप्तांक का 50 प्रतिशत तथा पूर्व वर्षों के प्राप्तांक का 50 प्रतिशत जोड़कर परीक्षा परिणाम (Result) घोषित किया जायेगा।

मप्र की राह पर अन्य राज्य

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) की ओपन बुक परीक्षा प्रणाली की सभी ओर सराहना हो रही है। देश के अन्य राज्यों में भी इस परीक्षा प्रणाली को अपनाया जा रहा है। प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों द्वारा ओपन बुक परीक्षा के लिये घोषित समय-सारणी के अनुसार समस्त पाठ्यक्रमों की परीक्षाएँ 30 सितम्बर तक पूर्ण कर ली जायेंगी। परीक्षा परिणाम 30 अक्टूबर तक घोषित किये जायेंगे।

 ऑनलाइन ई-प्रवेश प्रक्रिया

उच्च शिक्षा मंत्री ने बताया कि ओपन बुक परीक्षा के प्रश्न-पत्र संबंधित विश्वविद्यालय (The university) के पोर्टल/एसआईएस पर अपलोड किये जायेंगे। प्रदेश में महाविद्यालयों, हायर सेकेण्डरी और हाई स्कूलों को सम्मिलित करते हुए एक हजार से अधिक उत्तर-पुस्तिका संग्रहण केन्द्र बनाये गये हैं। उन्होंने ऑनलाइन ई-प्रवेश प्रक्रिया की जानकारी देते हुए कहा कि प्रदेश के कुल 1252 महाविद्यालयों के अंतर्गत स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिये अब तक 4 लाख 12 हजार 575 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है। इसी तरह स्नातकोत्तर स्तर के पाठ्यक्रम में एक लाख 47 हजार 114 विद्यार्थियों ने प्रवेश के लिये पंजीयन कराया है। विद्यार्थियों को ऑनलाइन प्रवेश के समय प्रथम किश्त की राशि न्यूनतम रुपये एक हजार जमा करने की सुविधा प्रदान की गई है।

अक्टूबर से शुरु होगी नए सत्र की कक्षाएं 

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन एक अक्टूबर, 2020 से किया जायेगा। उन्होंने कहा कि महाविद्यालयों में अतिथि विद्वानों की पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है। इसके लिये 774 अतिथि विद्वानों की मेरिट-लिस्ट जारी कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here