हॉटस्पॉट बना वल्लभ भवन, 10वां पॉजिटिव मिला, कर्मचारी संघ ने की यह मांग

भोपाल| राजधानी भोपाल (Bhopal) में कोरोना (Corona) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। वहीं मंत्रालय के वल्लभ भवन पर लगातार खतरा मंडरा रहा है| वल्लभ भवन के क्रमांक-2 में आज 10 वां कोरोना पाज़ीटिव डिटेक्ट हुआ है। पूरे मंत्रालय में अभी तक पाये गये 10 पाज़िटिव में से 9 पाज़िटिव केवल वल्लभ भवन क्रमांक-2 में पाये गये हैं। इस तरह वल्लभ भवन क्रमांक-2 कोरोना का हॉट स्पाट बनता जा रहा है। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ ने मांग की है कि कुछ दिनों के लिए क्रमांक-2 को बंद किया जाए| साथ ही एक फीवर क्लीनिक खोली जाए|

इंजी सुधीर नायक,अध्यक्ष, मंत्रालयीन कर्मचारी संघ ने बताया कि आज गृह विभाग में पदस्थ एक उप सचिव की घंटी पर तैनात एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी एम्स में पाज़िटिव पाये गये हैं। उन्हें एम्स में भर्ती कर लिया गया है। कुछ दिन पूर्व इन्हीं उपसचिव के पीए सागर में पाज़ीटिव पाए गए थे और उनका बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर में उपचार चल रहा है।

इसी बिल्डिंग में है सीएम समेत शीर्ष अधिकारियों के दफ्तर
उन्होंने बताया पाज़ीटिव पाए गए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी परिवहन विभाग के हैं और मंत्रालय में अटैच होकर सेवाएं दे रहे थे। मंत्रालय में पाये गये 10 पाज़िटिव में से 08 अटैचमेंट कर्मचारी हैं। इस तरह मंत्रालय में कोरोना संक्रमण अटैचमेंट कर्मचारियों के जरिए फैल रहा प्रतीत होता है। चिंताजनक बात यह भी है कि वल्लभभवन क्रमांक-2में कुल 10 में से 09 पाज़िटिव पाये गये हैं जबकि इसी बिल्डिंग में मुख्यमंत्री जी, मुख्य सचिव महोदय और अपर मुख्य सचिव, गृह,अपर मुख्य सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग, अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य के दफ्तर हैं।

कर्मचारी संघ ने की यह मांग
इंजी सुधीर नायक ने बताया कि वल्लभभवन क्रमांक-2में सेंट्रल एसी सिस्टम संचालित है जिसे संक्रमण की दृष्टि से हाई रिस्क श्रेणी में रखा गया है। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ ने मांग की है कि वल्लभभवन क्रमांक-2 को फिलहाल कुछ दिन के लिए बंद कराया जाये ताकि संक्रमण की चेन टूट सके।साथ ही वल्लभभवन में एक फीवर क्लीनिक स्थापित करने की मांग भी मंत्रालयीन कर्मचारी संघ द्वारा की गई है जिसमें अरेरा हिल्स स्थित सभी शासकीय कार्यालयों के कर्मचारी जांच करा सकें।