MP: अधिकारी का बेटा ऑस्ट्रेलिया में फंसा, वतन वापसी की लगाई गुहार

भोपाल| वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते ऑस्ट्रेलिया में कई भारतीय फंसे हुए हैं| कुछ नौकरी, तो कुछ उच्च शिक्षा के लिए वहाँ गए हुए थे| जो अब अपने वतन लौटने मदद की गुहार लगा रहे हैं| मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के संयुक्त संचालक राजेश मलिक का बेटा वरूण मलिक भी ऑस्ट्रेलिया में फंसा हुआ है| वहाँ एम्बेसी और PMO में भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है।

वरुण मालिक ने ऑस्ट्रेलिया में फंसे भारतीयों को लेकर ईमेल के माध्यम से अपनी व्यथा बताई है| उनका कहना है कि कोरोना के कारण ऑस्ट्रेलिया में लगभग हजार लोग फंस गए हैं, जिनकी यात्रा करने के विभिन्न कारण हैं, जिनमें शामिल हैं – नौकरीपेशा लोग या छात्र जो घर के किराए और खाने के खर्च के लिए संघर्ष कर रहे हैं| यह लोग पर्यटक VISA पर आए और होटल में रुके हुए हैं| कुछ बुजुर्ग माता-पिता सीमित दवाओं के साथ अटके हुए हैं, कोई भारत में अपने परिवार को वापस देखने के लिए इंतजार कर रहा है, कोई इस तरह के संकट में बुजुर्ग माता-पिता का साथ देने के लिए घर जाने के लिए बेताब है। ऑस्ट्रेलिया सरकार हमारे जैसे लोगों को काम / पर्यटक / छात्र वीजा पर नहीं दे सकती है, इसलिए सभी को वित्तीय और मानसिक तनाव का सामना करना पड़ रहा है।

ईमेल में उन्होंने कहा लगभग हम सभी ने सिडनी / मेलबर्न / पर्थ में भारतीय वकील तक पहुंचने की कोशिश की है। सभी प्रतिक्रियाएं मानक टेम्पलेट्स की तरह हैं, भारतीयों के प्रति सहानुभूति के बिना। ऐसा लगता है कि वे हमें घर वापस लाने के बारे में सोचने की योजना भी नहीं बना रहे हैं। हम सरकार के अधिकारियों, PMOIndia, CMOMaharashtra, HardeepSPuri और ट्वीटर पर कुछ और टैग कर रहे हैं। लेकिन हमें कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली। उन्होंने घर वापस लाने के लिए मदद की गुहार लगाईं है|

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here