‘हॉर्स ट्रेडिंग’ के आरोंपों पर गर्माई सियासत, अब VD ने दिया बड़ा बयान

भोपाल।
राज्यसभा चुनाव से पहले पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने आज दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एमपी की भाजपा पर हार्स ट्रेडिंग के सनसनीखेज आरोप लगाए।दिग्विजय का कहना है कि भाजपा नेता शिवराज और नरोत्तम मिश्रा कांग्रेस विधायकों को करोडों का ऑफर देने की कोशिश कर रहे है। दिग्विजय के आरोपों के बाद राजनीति में भूचाल आ गया है।दिल्ली से भोपाल तक खलबली मच गई है। बीजेपी जमकर कांग्रेस और दिग्विजय पर हमले बोल रही है। शिवराज और गोपाल भार्गव के बाद अब बीजेपी के नए प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने दिग्विजय के आरोपों पर हमला किया है।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने दिग्विजय सिंह के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह को अनर्गल आरोप लगाने के अलावा कोई काम नहीं है । आज दिग्विजय सिंह के पास कोई दंगा भड़काने वाला मु्द्दा नहीं होगा, न ही देश के लिए घातक होने वाला कोई मुद्दा होगा। इसलिये अनर्गल आरोप लगा रहे है।

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री ​शिवराज सिंह चौहाने के कहा था कि झूठ बोलकर सनसनी फैलाना दिग्विजय सिंह की आदत रही है। उनका ताजा बयान भी उसी का एक अंग है ।शायद वे इसके माध्यम से मुख्यमंत्री को ब्लैकमेल करके कोई काम कराना चाहते होंगे ।उनके दिमाग में क्या चलता है, यह वही जाने। और मैं इससे ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता। वही गोपाल भार्गव ने कहा था कि दिग्विजय झूठ फैला रहे है। अगर उनके पास कोई सबूत है तो दिखाएं।यह अपने विधायकों को एकजुट रखने की कवायद है।दिग्विजय सिंह अगर किसी विधायक की बोली लगाते हैं तो उससे बड़ा अपमान किसी जनप्रतिनिधि का नहीं हो सकता। मध्य प्रदेश की यह संस्कृति कभी नहीं रही है।

दिग्विजय के ये है सनसनीखेज आरोप 

दिग्विजय सिंह का कहना है कि जब से मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है बीजेपी के नेता शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) और नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) 25 से 30 करोङ रू में विधायकों को खरीदने की लगातार कोशिश कर रहे हैं और इस तरह से सरकार गिराकर बीजेपी की सरकार बनाना चाहते हैं। मैं बीजेपी के लोगों को सचेत कर देना चाहता हूं कि वे इसे कर्नाटक ना समझें। मध्यप्रदेश एक अलग राज्य है और यहां पर जो भी कार्रवाई हो रही है वह भी अब केंद्र के इशारे पर हो रही है ।दिग्विजय सिंह ने बीजेपी को चेतावनी देते हुए कहा कि वे ऐसे किसी भी प्रयास को सफल नहीं होने देंगे। नरोत्तम मिश्रा और शिवराज सिंह चौहान खुलेआम कांग्रेस विधायकों को तोड़ने में लगे हैं। वे हमारे विधायकों को खरीदने के लिए 25-30 करोड़ रुपये का ऑफर दे रहे हैं। इस राशि का भुगतान तीन किश्तों में होगा। पहली किश्त राज्यसभा चुनाव से पहले, दूसरी किश्त राज्यसभा चुनाव के बाद और तीसरी किश्त सरकार गिराने के बाद विधायकों को दिए जाएंगे। कई विधायकों से इसके लिए अप्रोच किया गया है।

मीडिया ने जब पूछा गया कि आप किस आधार पर ये बातें कह रहे हैं। इस पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं बिना सबूत के किसी पर कोई आरोप नहीं लगाता हूं। विधायकों को खरीदने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि इस बात की पुख्ता जानकारी मेरे पास है। इनका सीधा आरोप शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा पर है। उन्होंने कहा कि एमपी में बीजेपी सरकार गिराने की कोशिश कर रही है। दिग्विजय ने कहा कि मै बिना तथ्यों के कोई आरोप नहीं लगाता। शिवराज और नरोत्तम में सहमती बनी है। एक CM और दूसरा डिप्टी CM के देख रहे सपने ।दोनों कांग्रेस विधायको को कर रहे फोन ,कांग्रेस के विधायको को 25 से 35 करोड़ का ऑफर कर रहे।