कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन को लेकर प्रदेश में भी सतर्कता, सीएम ने बुलाई बैठक

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को बैठक बुलाई है, कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन को लेकर मुख्यमंत्री ने यह बैठक बुलाई है, रविवार दोपहर को होने वाली बैठक में स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारी होंगे शामिल होंगे इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री,चिकित्सा शिक्षा मंत्री, प्रमुख सचिव भी बैठक में शामिल होंगे, नए वेरियंट ओमिक्रॉन को लेकर केंद्र ने सभी राज्यो को पत्र लिखा है।

क्या आपके पास है 1 रुपया का सिक्का तो आपको मिलेंगे 2.5 लाख रुपये, जाने प्रक्रिया और नियम

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के नए और संक्रामक वेरिएंट ओमिक्रॉन ने दुनिया के तमाम देशों की चिंता बढ़ा दी है।  भारत में कोरोना वायरस के इस वेरिएंट की रोकथाम के लिए राज्यों ने पहले से तैयारी शुरू कर दी है।  दिल्ली, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक औऱ उत्तराखंड समेत विभिन्न प्रदेशों की सरकारों ने इस बारे में जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए हैं।  वहीं नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी ने एक हाई लेवल मीटिंग की है। जिसमें पीएम मोदी ने देश में कोविड-19 से जुड़े हालातों पर चर्चा करते हुए अतिरिक्त सतर्कता और सावधानी बरतने की बात कही है।  कोरोना वायरस का यह नया वेरिएंट ओमिक्रॉन B.1.1.529 साउथ अफ्रीका में मिला है जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अति गंभीर और तेजी से फैलने वाला वायरस बताया है।

मध्य प्रदेश  के स्वास्थ्य मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि, राज्य में इस नए वेरिएंट का कोई मामला सामने नहीं आया है।  लेकिन राज्य सरकार इस हालात पर नजर बनाए हुए है।  वहीं महाराष्ट्र में, साउथ अफ्रीका से मुंबई आने वाले सभी यात्रियों को क्वारंटाइन रहना होगा।  इन पैसेंजर्स के सैंपल कलेक्ट करके उन्हें जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए भी भेजा जाएगा।  उधर उत्तराखंड में भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्य सचिव, डीजीपी और हेल्थ सेक्रेटरी से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि राज्य के सभी सार्वजनिक स्थानों पर कोविड नियमों का पालन हो।  कर्नाटक  में धारवाड़ मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की संख्या 281 हो गई है. इस बीच बेंगलुरु में 2 दक्षिणी अफ्रीकी नागरिकों के ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित होने की खबर मिलने से लोगों में घबराहट बढ़ गई है।  हालांकि अधिकारियों ने कहा कि इसकी पुष्टि फिलहाल नहीं हुई है. दोनों संक्रमित नागरिकों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं इससे पहले कर्नाटक सरकार ने विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए कुछ जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।