भीषण गर्मी से अभी और तपेगी धरती, मौसम विभाग ने MP में जारी किया रेड अलर्ट

Weather-Department-issued-red-alert-in-madhypradesh

भोपाल। भले ही नौतपा खत्म हो गया हो लेकिन एमपी में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। लोग गर्मी से बेहाल हो रहे है।राजस्थान से आ रही गर्म हवा से तपिश और बढ़ रही है। प्रदेश भर में तीव्र लू को देखते हुए मौसम विभाग ने भी रेड अलर्ट जारी किया है।विभाग की माने तो मध्यप्रदेश के 7 जिले भीषण गर्मी की चपेट में है, जिनमें दमोह, नौगांव, गुना, खजुराहो, सागर, श्योपुर, रायसेन में तापमान 47 डिग्री पहुंच गया है।  विभाग की माने तो अभी एक हफ्ता प्री-मानसून आने की कोई उम्मीद नही है।

दरअसल, माैसम विभाग ने राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं को लेकर मध्यप्रदेश में रेड अलर्ट जारी किया हुआ है।  उत्तर-पश्चिम दिशा से गर्म हवाएं आ रही हैं। जिसके चलते  लोगों को न दिन में चैन मिल रहा है और रात में राहत मिल रही है। राजधानी समेत प्रदेश के 21 शहराें में तापमान 44 से 47 डिग्री के बीच रहा। गुना, खजुराहाे, नाैगांव, सागर, श्याेपुरकलां में पारा 47 डिग्री के करीब पहुंच गया। 

जहां मंगलवार को भाेपाल में मंगलवार काे तापमान 44.5 डिग्री दर्ज किया गया। यह सीजन का दूसरा सबसे गर्म दिन रहा।वही सोमवार को रायसेन में गर्मी ने पिछले दस सालों का रिकार्ड टूटा। दिन का अधिकतम तापमान 47 डिग्री पर पहुंच गया था। मंगलवार को भी तापमान 44.0 डिग्री दर्ज किया, तो न्यूनतम तापमान 30.5 डिग्री रहा। इसी के चलते विभाग ने अगले 48 घंटों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही मौसम विभाग ने प्रदेश के 75 प्रतिशत स्थानों में लू चलने की संभावना जताई है। फिलहाल गर्मी से राहत मिलने की किसी प्रकार की संभावना नहीं है।हालांकि आगामी 24 घंटों में राज्य के कुछ हिस्सों में गरज चमक के साथ बाैछारे पड़ने की भी संभावना जताई है।इधर अगर प्री-मानसून की बात की जाए तो मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में अभी 8 दिनों को कोई उम्मीद नहीं है। हलांकि संभावना जताई गई है कि 25 जून तक मध्य प्रदेश में मानसून का असर देखने को मिल सकता है।

केरल में चार दिन में दस्तक देगा मानसून

भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने संभावना जताई है कि मानसून अगले 96 घंटे के भीतर केरल में दस्तक दे देगा। इसके साथ ही अगले 24 घंटे के भीतर उत्तर और दक्षिणी ओडिशा के कुछ इलाकों में गरज के साथ बारिश हो सकती है।हालांकि विभाग का कहना है कि आठ जून के बाद ओडिशा के विभिन्न इलाकों में तेज बारिश देखने को मिलेगी, लेकिन इसका सटीक अनुमान केरल में मानसून की बारिश शुरू होने के बाद ही लगाया जा सकेगा। सामान्य तौर पर भारत में मानसून की शुरुआत केरल में बारिश के शुरू होने से मानी जाती है। इसके बाद महाराष्ट्र, राजस्थान होते हुए मानसून २५ जून के आसपास मध्यप्रदेश पहुंचेगा।