अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर क्या बोले कमलनाथ

भोपाल।

लंबे इंतजार के बाद ऐतिहासिक अयोध्या केस पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है।कोर्ट ने इस फैसले में विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को देने का फैसला किया है, जबकि मुस्लिम पक्ष को अलग स्थान पर जगह देने के लिए कहा गया है।  राम मंदिर निर्माण के लिए कोर्ट ने केंद्र सरकार को तीन महीने के अंदर ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने यह फैसला सर्वसम्मति से दिया है।सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद एक के बाद नेताओं की  प्रतिक्रियाएं सामने आना शुरु हो गई है।इसी कड़ी में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बड़ा बयान दिया है।कमलनाथ ने कोर्ट के फैसला का स्वागत किया है।वही उन्होंने लोगों से शांति और भाईचारे की अपील की है।

सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि अयोध्या मामले पर फ़ैसला आ चुका है। एक बार फिर आपसे अपील करता हुँ कि सर्वोच्च न्यायालय के इस फ़ैसले का हम सभी मिलजुलकर सम्मान व आदर करे। किसी प्रकार के उत्साह ,जश्न व विरोध का हिस्सा ना बने। अफ़वाहों से सावधान व सजग रहे।किसी भी प्रकार के बहकावे में ना आवे। सीएम ने अगले ट्वीट में लिखा है कि आपसी भाईचारा , संयम , अमन-चैन ,शांति , सद्भाव व सोहाद्र बनाये रखने में पूर्ण सहयोग प्रदान करे। सरकार प्रदेश के हर नागरिक के साथ खड़ी है।क़ानून व्यवस्था व अमन-चैन से खिलवाड़ करने वाले किसी भी तत्व को बख़्शा नहीं जावेगा। 

सीएम ने लिखा है कि पूरे प्रदेश में पुलिस प्रशासन को ऐसे तत्वों पर सख़्ती से कार्यवाही के निर्देश पूर्व से ही दिये जा चुके है।यह प्रदेश हमारा है , हम सभी का है , कुछ भी हो , हमारा प्रेम , हमारी मोहब्बत , हमारा भाईचारा , हमारा आपसी सोहाद्र ख़राब ना हो , यह हम सभी की ज़िम्मेदारी है।आज आवश्यकता है अमन व मोहब्बत के पैग़ाम को सभी तक फैलाये , नफ़रत व वैमनस्य को परास्त करे।

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर क्या बोले कमलनाथ