मोदी की मंशा पर ये क्या बोल गए शिवराज के मंत्री, कांग्रेस ने उठाये सवाल

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर कहा कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे, शिवराज सरकार के वर्तमान मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा, मोदी जी के परिवारवाद के निर्णय को खुली चुनौती दे रहे हैं। 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राजनीति में परिवारवाद (Familyism) पर पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) स्पष्ट कह चुके हैं कि वे इसके पक्ष में बिलकुल नहीं है। लेकिन मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) के एक मंत्री ने पीएम मोदी की मंशा से उलट एक ऐसा बयान दिया है जो वायरल हो रहा है। कांग्रेस(MP Congress) ने शिवराज के मंत्री के बयान पर सवाल उठाये हैं और बयान को पीएम मोदी को खुली चुनौती बता रही है।

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के MSME मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा (Om Prakash Sakhlecha) ने मीडिया से बातचीत में आज परिवारवाद पर ऐसा कुछ कह दिया कि वो विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। एक सवाल के जवाब में कैबिनेट मंत्री सखलेचा ने कहा कि परिवारवाद की परिभाषा को समझना होगा। उन्होंने कहा कि परिवारवाद का अर्थ बहुत सिंपल है, जिसके परिवार से कोई पिछले पांच सात साल से सक्रीय ना हो, उसको सीधा अवसर नहीं मिलेगा।

ये भी पढ़ें – MP: फिर बदलेगा मौसम, 2 दिन बाद सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, जानें इस साल कैसा रहेगा मानसून

मंत्री सखलेचा ने कहा कि आज बहुत से नेता जैसे गोपाल भार्गव, नरोत्तम मिश्रा, नरेंद्र सिंह तोमर, कैलाश विजयवर्गीय के बेटे कई वर्षों से जमीन पर फुलटाइम काम कर रहे हैं तो क्या उनका टिकट सिर्फ इसीलिए कट जायेगा। जबकि एक सामान्य नागरिक के नाते उनका भी अधिकार हैं। आपको बता दें कि मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री वीरेंद्र कुमार सखलेचा के बेटे हैं।

ये भी पढ़ें – IRCTC : रात में अकेली ट्रेन में कर रहीं हैं सफर, रेलवे की ये सुविधा बनेगी हमसफर

MSME मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा के बयान पर कांग्रेस ने सवाल उठाये हैं। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर कहा कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे, शिवराज सरकार के वर्तमान मंत्री ओम प्रकाश सखलेचा, मोदी जी के परिवारवाद के निर्णय को खुली चुनौती दे रहे हैं।  इनके मुताबिक़ नरेन्द्र तोमर, नरोत्तम मिश्रा, गोपाल भार्गव, कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र परिवारवाद की श्रेणी में नहीं आते।

ये भी पढ़ें – RBI पर नई अपडेट! जून में बढ़ सकती है रेपो रेट, जानें कितने प्रतिशत होगी वृद्धि?

कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे ट्वीट किया – तो क्या फिर स्व.नंदू भैया, प्रभात झा, शिवराज जी के पुत्र ही परिवार वाद की श्रेणी में आते है…? परिवारवाद की परिभाषा प्रदेश में भाजपा अपने हिसाब से गढ़ रही है और मोदी जी को खुली चुनौती दे रही है…