आखिर क्या है गोपाल भार्गव के इस पत्र के मायने!

gopal-bhargav-tweet-on-'Sakshi-Ajitesh'-marriage-case-

भोपाल। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बीजेपी के सभी विधायकों को एक पत्र लिखा है और इस पत्र के माध्यम से उन्होंने विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार , उसके बाद कांग्रेस सरकार का गठन और कांग्रेस सरकार के गठन के बाद कमलनाथ सरकार द्वारा भू माफियाओं के नाम पर बीजेपी के कार्यकर्ताओं के ऊपर की गयी बदले की कार्रवाई का उल्लेख किया है। इसके साथ-साथ गोपाल भार्गव ने विधायकों को लिखा है कि इन विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भी आप पार्टी के साथ खड़े रहे, यह अपने आप में बहुत काबिले तारीफ बात है।

गोपाल भार्गव ने पत्र में यह आशा भी जताई है कि आने वाले समय में बीजेपी को सख्त और प्रभावी नेतृत्व मिलेगा और जिस तरह विधायकों ने पिछले समय साथ दिया, उसी तरह से उनका साथ मिलता रहेगा। वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में जब बीजेपी का मुख्यमंत्री चेहरा कौन होगा ,गोपाल भार्गव के इस पत्र के सियासी मायने क्या है ,यह तो वही जाने लेकिन इस पत्र ने एक बार फिर बीजेपी की अंदरूनी राजनीति में नेतृत्व की लड़ाई को सार्वजनिक कर दिया है।

आखिर क्या है गोपाल भार्गव के इस पत्र के मायने!