दो पाली में होगी गेहूं की खरीदी, 6 किसानों को भेजे जायेंगे मैसेज, पढ़िए जरूरी जानकारी

भोपाल| गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी बुधवार 15 अप्रैल से शुरू की जा रही है। कोरोना के खतरे को देखते हुए इस बार खरीदी देर से शुरू हो रही है, वहीं सरकार ने कोरोना से सुरक्षा के मद्देनजर कई जरूरी निर्देश भी जारी किये हैं| सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने खरीदी केन्द्र पर एक दिन में केवल छ: किसानों को उनकी उपज बेचने के लिये मेसेज दिये जाएंगे। खरीदी केन्द्र में गेहूँ की तुलाई दो पाली में की जाएगी। इस बार सरकार द्वारा गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

किसानों की सुविधा के लिये 48 जिलों में 4 हजार 305 खरीदी केन्द्र बनाये गये है। भोपाल, इंदौर और उज्जैन में गेहूँ की खरीदी के लिये तारीखें अलग से घोषित की जायेगी। प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण शिवशेखर शुक्ला ने जिला कलेक्टरों को गेहूँ की समर्थन मूल्य पर खरीदी की व्यवस्थाओं के बारे मे विस्तृत निर्देश जारी किये है।

21 लाख किसानों को भेजेंगे एसएमएस
प्रमुख सचिव शुक्ला ने बताया कि प्रदेश के 21 लाख किसानों को एसएमएस भेज कर उनकी उपज की खरीदी का समय और तारीख की जानकारी प्रदान की जा रही है। खरीदी केन्द्र पर एक दिन में केवल छ: किसानों को उनकी उपज बेचने के लिये मेसेज दिये जाएंगे। खरीदी केन्द्र में गेहूँ की तुलाई दो पाली में की जाएगी। प्रथम पाली के लिये सुबह 10 बजे से दोपहर डेढ़ बजे तक तथा दूसरी पाली दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक जारी रहेगी। एक पाली में केवल तीन किसानों की उपज की तोल की जाएगी। यदि कोई किसान किसी कारणवश निर्धारित तिथि के मेसेज पर खरीदी केन्द्र नहीं पहुँच पाते हैं, तो उन्हे पुन: अवसर प्रदान किया जाएगा।

खरीदी केन्द्र पर कोरोना गाइड लाइन का पालन
प्रमुख सचिव श्री शुक्ला ने जिला कलेक्टरों से कहा है कि खरीदी केन्द्रो पर किसानों के साथ-साथ कार्यरत कर्मचारियों से भी कोरोना गाइड लाइन के अनुसार कार्यवाही करायें। इन्हे आपस में तीन-तीन मीटर की दूरी पर रहकर कार्य करने के निर्देश दें। खरीदी केन्द्रों पर किसानों को अपने साथ वृद्धजनों, बच्चों और अस्वस्थ लोगों को लाने की अनुमति नहीं होगी। खरीदी केन्द्रों पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात करने के लिये कहा गया है। जिन किसानों को खरीदी केन्द्र पर उपज लाने के लिये एसएमएस जाएंगे, केवल उन्ही किसानों को लॉकडाउन की अवधि में खरीदी केन्द्र तक आने और जाने की अनुमति रहेगी।

मास्क, सेनेटाइजर और साबुन की व्यवस्था
प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण शिव शेखर शुक्ला ने जिला कलेक्टरों से कहा है कि सभी खरीदी केन्द्रों पर किसानों और कर्मचारियों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिये मास्क, सेनेटाइजर और हाथ धोने के लिये साबुन की व्यवस्था सुनिश्चित करें। कानून व्यवस्था बनाएं रखने के लिये आवश्यकतानुसार निर्वाचन कार्यों की तर्ज पर संवेदनशील खरीदी केन्द्र चिन्हित करें तथा उन केन्द्रों पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम कराएं।