Whistle-Blower-dr-anand-rai-raise-question-on-kamalnath-sarkar

भोपाल।

तबादलों को लेकर प्रदेश में सियासी भूचाल मच गया है। विपक्ष के साथ-साथ सरकार अपने ही नेताओं के भी निशाने पर आ गई है। बार-बार अधिकारियों के तबादलों के कारण सरकार पर खरीद-फरोख्त तक के आरोप लगने लगे है। इन तबादलो की चर्चा भोपाल से लेकर दिल्ली तक होने लगी है, क्योंकि एक ही अधिकारी के बार बार तबादले किए जा रहे है, और तो और उन अधिकारियों को विशेष महत्व दिया जा रहा है जो पिछली सरकार के पक्षधर थे। वही कांग्रेस को सत्ता दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले व्यापमं के व्हिसल ब्लोअर ने भी अब सरकार को आड़े हाथों लेना शुरु कर दिया है। अधिकारियों के निरंतर तबादलों को लेकर व्हिसल ब्लोअर सरकार की जमकर खिंचाई की है। डॉक्टर आनंद राय ने भ्रष्ट अधिकारियों की प्राइम पोस्टिंग पर सवाल उठाते हुए सोशल मीडिया पर ट्वीट कर सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है और पूछा है सरकार आखिर दागी अफसर पर इतनी मेहरबान क्यों…।

दरअसल, फेसबुक के बाद डॉक्टर आनंद राय ने ट्वीटर के माध्यम से कमलनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला है। राय ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री कमलनाथ से पूछा है कि आखिर क्या कारण हो गया कि सरकार दागी पर इतनी मेहरबान हो रही है। राय ने ट्वीट कर लिखा है कि व्यापमं घोटाले में नितिन महिंद्रा से जब्त हार्ड डिस्क में छेड़छाड़ कर CMका नाम हटाने वाले दिलीप सोनी को एसपी लोकायुक्त इंदौर  से हटाकर  सहायक पुलिस महानिरीक्षक भोपाल बनाया था और कल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नारकोटिक्स इंदौर बना दिया,दागी पर सरकार इतनी मेहरबान क्यो।संदेश जैन,संजय दुबे,विपिन माहेश्वरी,विनय पॉल,दिलीप सोनी,श्रीनिवास वर्मा की मदद से ही इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य छिपाकर तत्कालीन CM को बचाया गया था,इन्होंने व्हिसल ब्लोअर   को सतत प्रताड़ित किया। राय ने यह ट्वीट कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी, सीएम कमलनाथ , राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, गुना सांसद और यूपी के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के साथ कई लोगों को टैग किया है।इस घटनाक्रम के बाद कांग्रेस सकते में आ गई है। चुंकी आनंद राय  वही है जिन्होंने मध्यप्रदेश में बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल उसे 15  सालों बाद बाहर कर कांग्रेस की सत्ता वापसी करवाई।ऐसे में लोकसभा चुनाव से पहले उनका कांग्रेस के खिलाफ यूं बयानबाजी करना मुश्किल खड़ी कर सकता है।

इससे पहले फेसबुक पोस्ट दी थी चेतावनी

इसके पहले बुधवार को आनंद राय फेसबुक पर पोस्ट कर कमलनाथ सरकार पर कई मुद्दों को लेकर घेर डाला था। उन्होंने कहा था कि हम लोगों की तासीर चुप बैठने की नही है, हम कमलनाथ जी को कर्तव्य याद दिलाते रहेंगे। डॉ राय ने लिखा था “भ्र्ष्टाचार अब कांग्रेस के लिए मुद्दा नहीं है, न जन आयोग बना, न व्यापमं की जाँच हुई न मंदसौर किसान हत्याकांड के आरोपियों पर FIR हुई न E Tender घोटाले की जाँच हुई, भृष्टतम IAS IPS मनचाही जगह पदस्थ हो रहे हैं, सूचना आयुक्तों की नियुक्ति में भी RTI activists से सलाह मशविरा नही किया गया,जयस को भी तवज्जो नही दी जा रही,न ही पांचवीं अनुसूची का जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन हुआ,हम लोगों की तासीर चुप बैठने की नही है,हम कमलनाथ जी को कर्तव्य याद दिलाते रहेंगे।जिन पुलिसवालों ने व्यापमं की Hard Disk से छेड़छाड़ की जिस IAS ने मुख्यमंत्री और IG के बीच बिचौलिया की भूमिका निभाई सभी मलाईदार पद पा गए।जिसके ससुर ने RTO रहते शिवराज को डंपर घोटाले में cleanchit दी वह EOW SP बन बैठा,हमने कांग्रेस सरकार को 90 दिन का Honeymoon period दिया था, जश्न मन गया हो तो अब काम पर लग जाइये, क्योंकि हम लोग न भृष्टाचारियो को बख्शेंगे न ही भृष्ट अधिकारियों को संरक्षण देने वाले मंत्रियों को…|”

दागी पर सरकार इतनी मेहरबान क्यों..दागी पर सरकार इतनी मेहरबान क्यों..