किसने की आईपीएस की छवि धूमिल करने की कोशिश

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के आईपीएस (IPS) जगत में ईमानदार और निर्भीक छवि के अधिकारी माने जाने वाले वर्तमान परिवहन आयुक्त वी. मधु कुमार (V.Madhu kumar) का एक तथाकथित ऑडियो-वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आरोप लगाया जा रहा है कि मधुकुमार अपने अधीनस्थ अधिकारियों से वसूली कर रहे हैं । हैरत की बात यह है कि यह वीडियो वर्षों पुराना है जब मधुकुमार आईजी हुआ करते थे और सूत्रों की माने तो उन्होंने आईजी रहते हुए सभी थाना प्रभारियों को इस बात के निर्देश दिए थे कि वे अपने-अपने क्षेत्र में संगठित अपराधियों, चिटफंडयो, जुआरियों, सटोरियों और अपराधियों की एक गोपनीय सूची उनको दें ताकि उनके ऊपर प्रभावी कार्रवाई की जा सके और उसके साथ-साथ अपराधों पर नियंत्रण पाया जा सके।

इस वीडियो में हर अधिकारी मधु कुमार को एक लिफाफा देते हुए नजर आता है जिस पर वह बाकायदा संबंधित थाने का नाम लिखकर उसे अपने ब्रीफकेस में रख लेते हैं ।इसी को लेकर यह प्रचारित किया जा रहा है कि यह रिश्वत ली जा रही है जबकि ना तो संबंधित अधिकारी जो लिफाफे दे रहे हैं उनसे लेनदेन का किसी प्रकार का कोई जिक्र है और सबसे बड़ी बात यह है कि सामने बैठा हुआ व्यक्ति मधुकुमार से सामान्य बातचीत कर रहा है जो इस बात को साफ दिखाता है कि यदि रिश्वत लेनदेन का मामला होता तो कोई भी अधिकारी किसी व्यक्ति के सामने रिश्वत कैसे ले सकता था। प्रथम दृष्टया देखने पर ही यह वीडियो एक अधिकारी की छवि को खराब करने का षड्यंत्र दिखता है।