CM के नाम के ऐलान में देरी, 5वीं बार बदला विधायक दल की बैठक का समय

-Who-will-be-Chief-Minister-of-the-state-can-be-declared-at-any-time-meeting-time-change

भोपाल| मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री कौन होगा इसका फैसला आज होना है| दिल्ली में चल रही बैठक में नाम पर मुहर लगेगी| किसी भी समय नए मुख्यमंत्री की घोषणा हो सकती है| राहुल गाँधी के आवास पर तमाम दिग्गज नेता मंथन कर रहे हैं, तीन राज्यों में मुख्यमंत्री के नाम तय होना है| इस बैठक में सोनिया गाँधी, प्रियंका गाँधी समेत मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के नेता भी दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं| जल्द ही ऐलान संभव है| सीएम को लेकर मध्य प्रदेश से दो दिग्गज नेताओं के नाम को लेकर मंथन चल रहा है, लेकिन सहमति न बन पाने के चलते नाम के ऐलान में देरी हो रही है|   भोपाल में विधायक दल की बैठक का समय भी बार बार बदला गया है, पहले 4 बजे, फिर शाम 6 बजे और 8:30 बजे किया गया| अब खबर है कि 10 बजे  विधायक दल की बैठक होगी, कुल मिलकर जब तक दिल्ली में चल रही बैठक खत्म नहीं होगी तब तक भोपाल में बैठक नहीं होगी, जिसके चलते कयास लगाए जा रहे हैं अभी दस के बाद ही यह बैठक होना संभव है| मुख्यमंत्री के साथ ही नए प्रदेश अध्यख के नाम की भी चर्चा है|  ऐलान में देरी के चलते पीसीसी के बाहर हंगामा बढ़ता जा रहा है| 

गुटबाजी के लिए बदनाम रही कांग्रेस के लिए नई सरकार के गठन से पहले सबको साधना बड़ी चुनौती बन गई है| मुख्यमंत्री के नाम को लेकर संसय बरकार है, दिल्ली में राहुल गाँधी के आवास पर चल रही बैठक में नाम तय होना है| वहीं कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों ने पीसीसी के बाहर हंगामा कर रखा है | सुबह से ही यहां समर्थकों का जमावड़ा लगा है, लेकिन चार बजते ही यहां भारी हंगामे की स्तिथि बन गई और दोनों नेताओं के समर्थक हाथ में बैनर, पोस्टर लेकर अपने नेता की जयकारे लगा रहे हैं|  दोनों नेताओं के समर्थकों में के बीच बार बार झूमाझटकी की स्तिथि भी बन रही है| वहीं इस स्तिथि को सँभालने के लिए कांग्रेस के बड़े नेता और प्रवक्ता भी सामने आये लेकिन समर्थकों को रोकना मुश्किल रहा, जब तक नाम का ऐलान नहीं हो जाता स्तिथि हंगामेदार ही रहने वाली है|  वहीं ऐलान के बाद यह समर्थक क्या करेंगे यह भी बड़ा सवाल है| जाहिर है दोनों ही नेताओं के समर्थक अपने नेता को सीएम की कुर्सी पर देखना चाहते हैं| 

विधायकों ने राहुल गाँधी पर छोड़ा, दिल्ली से होगा फैसला  

इससे पहले सरकार बनाने के प्रस्ताव को राज्यपाल को सौंपने के बाद बुधवार दोपहर बाद कांग्रेस के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में हुई विधायक दल की बैठक में कांग्रेस के सभी नवनिर्वाचित विधायकों के अलावा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, दिग्विजय सिंह ज्योतिरादित्य सिंधिया और दीपक बाबरिया मौजूद रहे । कमलनाथ ने विधायकों को संबोधित किया। इसके बाद कुछ नामों पर रायशुमारी हुई। कांग्रेस विधायक दल ने बुधवार को केंद्रीय कार्यसमिति के पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में एक लाइन का प्रस्ताव पारित करते हुए अपने नेता के चयन के लिए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को अधिकृत कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक पर्यवेक्षकों की विधायकों से वन-टू-वन रायशुमारी में कमलनाथ तो कई विधायकों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम भी लिया। अब दोनों नेताओं में से किसी एक का नाम हाईकमान फाइनल कर सकता है|