आखिर क्यों जताया कमलनाथ ने इस महिला अफसर पर भरोसा

Why-did-Kamal-Nath-trust-this-woman-officer

 आजादी के बाद पहली बार भोपाल संभाग की कमान सरकार ने महिला आईएएस अधिकारी कल्पना श्रीवास्तव को सौंपी है। 1992 बैच की आईएएस अधिकारी कल्पना श्रीवास्तव  अपनी तेजतर्रार कार्यशैली और नवाचारो के लिए एक जाना पहचाना नाम है। मध्य प्रदेश की सरकार को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति दिलाने वाली लाडली लक्ष्मी योजना दरअसल कल्पना श्रीवास्तव की ही उपज है। महिला एवं बाल विकास विभाग में आयुक्त रहते समय उन्होंने इस योजना को  जन्म दिया था और उसके बाद में पूरे प्रदेश के अंदर इसका व्यापक विस्तार भी किया। तकनीकी शिक्षा विभाग का प्रभार रहते समय उन्होंने कौशल उन्नयन के क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण कार्य किए उन्हीं के कार्यकाल में राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय को नैक  की ए ग्रेडिन्ग मिली थी। कल्पना को 2013 14 में लाडो अभियान के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस इन पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन से सम्मानित किया था। इसके अलावा वे मीडिया लाडली अवॉर्ड सहित कई अन्य पुरस्कारों से सम्मानित हो चुकी है। कल्पना को इस बात का भी श्रेय जाता है कि जब राज्य सरकार की आय के स्रोत कम हो रहे थे आईजी मुद्रांक एवं पंजीयन रहते हुए उन्होंने  विभाग के माध्यम से राज्य सरकार की आय में लगातार बढ़ोतरी की। इतना ही नहीं कल्पना ने जमीनों के फर्जीवाड़े को रोकने के लिए यह व्यवस्था भी की कि रजिस्ट्री के साथ साथ व्यक्ति की जमीन का नामांतरण भी तत्काल हो जाए। कल्पना की इसी कार्यशैली और नवाचारो के चलते कमलनाथ सरकार ने उन पर भरोसा जताया है और उन्हें भोपाल जैसे महत्वपूर्ण संभाग की जिम्मेदारी सौंपी है