बच्चों सहित जहर पीने वाले युवक की पत्नी बोली साथ रही तो मार डालेगा पति

wife-allegation-on-husband-for-killing-

भोपाल। गुनगा में बच्चों के जहर पिलाने के बाद में खुदकुशी का प्रयास करने वाले युवक की पत्नी ने पुलिस के सामने बड़े खुलासे किए हैं। महिला ने पुलिस को बताया कि आरोपी अपनी कमाई को जुआ खेलने और शराब पीने में बर्बाद कर देता है। उनके साथ में बेरहमी से मारपीट करता था। उसके साथ दोबारा रही तो वह बच्चों सहित उसे मार डालेगा। 

थाना प्रभारी डीपी सिंह के अनुसार प्रीति लोधी ने अपने बयानों में बताया कि आरोपी कल झगडऩे के बाद में बच्चों को लेकर निकला था। इकसे बाद उसने फ्रूटी में जहर देखकर बच्चों को मारने का प्रयास किया था खुद भी जहर पीकर आत्महत्या की कोशिश की। महिला का कहना है कि आरोपी जुआ खेलने और शराब पीने का आदी है। उसके साथ में बेरहमी से मारपीट करता है। वह उसके साथ नहीं रहना चाहती है। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी की हालत डाक्टरों ने पूरी तरह से स्वस्थ्य बताई है। आज उसकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। उल्लेखनीय है कि करण सिंह लोधी (38) सलामतपुर जिला रायसेन का रहने वाला है। वह गुजरात की एक नमक फैक्टरी में काम करता है। करीब सात साल पहले उसकी शादी कस्बा गुनगा निवासी प्रीति लोधी के साथ हुई थी। दोनों के तीन और छह साल के दो बच्चे मोहित और कार्तिक हैं। प्रीति के पिता का कुछ महीने पहले निधन हो गया था, इसलिए वह पहली होली मनाने के लिए अपने मायके आई हुई थी। होली के अगले दिन शुक्रवार को करण सिंह पत्नी और बच्चों को लिवाने के लिए ससुराल पहुंचा था। उसने प्रीति से घर चलने की बात कही तो उसने कहा कि आज भाईदूज है, इसलिए नाते-रिश्तेदार घर आने वाले हैं। एक दिन रुकन के बाद कल वापस चलेंगे। इस बात को लेकर दोनों के बीच हल्का विवाद हुआ, जिसके बाद करण सिंह अपने दोनों बच्चों को लेकर घर के लिए रवाना हो गया।

– बच्चों सहित पी लिया था जहर

गांव से बाहर निकलने के बाद करण सिंह ने दोनों बच्चों क फ्रूटी में इल्लीमार जहर मिलाकर पिला दिया। इसके पहले उसने बच्चों को बताया कि इसके पीने से पेट के कीड़े मर जाएंगे और खांसी भी नहीं आएगी। दवाई समझकर बच्चों ने फ्रूटी पी ली और बेहोश हो गए। इस दौरान करण सिंह ने भी काफी मात्रा में वही जहर पी लिया। करण सिंह ने बेहोश होने से पहले ससुराल से बगल में रहने वाले एक रिश्तेदार को फोन लगाकर बताया कि उसने बच्चों को जहर पिलाने के बाद खुद भी जहर पी लिया है। यह जानकारी मिलते ही ससुराल और गांव वाले मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी।

– पुलिस की तत्परता से बची तीनों की जान

घटना की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी डीपी सिंह और उनका स्टाप मौके पर पहुंचा तथा डायल 100 को बुलाया गया। पुलिस वाहन में ही तीनों को घटनास्थल से करीब तीन किलोमीटर बाहर मुख्य रोड पर लाया गया। इस दौरान एम्बुलेंस भी मौके पर पहुंच गई थी। एम्बुलेंस के डाक्टरों ने तीनों की हालत गंभीर बताते हुए उन्हें ईंटखेड़ी स्थित निजी अस्पताल पहुंचाया। यहां करण सिंह को भर्ती कर लिया गया, लेकिन बच्चों की हालत गंभीर होने के कारण हमीदिया रैफर कर दिया गया। दोनों बच्चों को हमीदिया में कमला नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के बाद उन्हें होश आ गया है। बच्चों ने पुलिस को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी, उसके बाद पुलिस ने पत्नी प्रीति लोधी की रिपोर्ट पर पति करण सिंह के खिलाफ हत्या के प्रयास और खुदकुशी के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है।